नवीन राजपूत, अमृतसर। पंजाब के एक मात्र ज्वाइंट इंटेरोगेशन सेंटर में कुख्यात गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई से आठ घंटे तक पूछताछ होती रही। इस दौरान गैंगस्टर अपने एक अन्य साथी मनी डागर का नाम सुनकर सन्‍न रह गया। मजीठा रोड थाने में दर्ज राणा कंदोवालिया हत्याकांड की एफआइआर में गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के साथ-साथ हरियाणा के मनी डागर का नाम भी शामिल है।

पुलिस अधिकारी के सवाल पर कुछ देर सोचने के बाद लारेंस बिश्नोई ने जवाब दिया कि वह किसी मनी डागर को नहीं जानता। पुलिस अधिकारी ने आरोपित को बताया कि वह मनी डागर के साथ हरियाणा की अंबाला जेल में रह चुका है। बिश्नोई ने जवाब दिया कि वह अपनी जेल यात्रा के कार्यकाल में कभी भी अंबाला जेल में नहीं रहा। पता चला है कि अब पुलिस अंबाला जेल का रिकार्ड खंगालने की तैयारी में है।

माल मंडी स्थित जेआइसी के कार्यालय में पूछताछ से पहले आरोपित लारेंस को न्यायाधीश सपिंदर सिंह की अदालत में पेश किया गया था। इससे पहले सोमवार रात ही पुलिस ने सारी कचहरी परिसर में डेढ़ सौ से ज्यादा पुलिस कर्मचारी और कमांडों तैनात कर दिए थे। सुबह साढ़े 9 बजे भरी सुरक्षा के बीच लारेंस को कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने आरोपित को आठ दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा है।

यह भी पढ़ेंः- गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई को पंजाब पुलिस का VVIP ट्रीटमेंट, अमृतसर में पेशी के दौरान स्पेशल ड्यूटी पर तैनात रहे सैकड़ों जवान

बता दें कि, मजीठा रोड थाने की पुलिस अगस्त 2021 में राणा कंदोवालिया की हत्या के मामले में बटाला के गुरमिंदरजीत सिंह उर्फ हैपी शाह, मेहता निवासी गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी, डेरा बाबा निवासी ननित शर्मा को काबू कर चुकी है। मामले में हरियाणा के शार्प शूटर मनी डागर, जेल में बंद जग्गू भगवानपुरिया और लारेंस बिश्नोई को काबू किया जाना बाकी था।

लारेंस और जग्गू के गुर्गे मांग रहे रंगदारी

लारेंस बिश्नोई को अमृतसर देहाती पुलिस भी ट्रांजिट रिमांड पर लेने की तैयारी कर रही है। लारेंस और उसके गुर्गे के खिलाफ कुछ दिन पहले कंबो थाने में भी केस दर्ज किया गया है। आरोपित लारेंस और उसका साथी जग्गू भगवानपुरिया तिहाड़ जेल में बैठकर लोगों को डरा धमकाकर रंगदारी वसूल रहा है।

Edited By: Deepika