कमल किशोर, जालंधर : इंडियन स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया व ओलंपिक एसोसिएशन की ओर से गुवाहटी में 18 से 30 जनवरी तक खेलो इंडिया यूथ गेम्स शुरू होने जा रही है। राज्य सरकार ने गेम्स के लिए 12 टीमों की लिस्ट बनाकर फेडरेशन को भेज दी गई है, जिनमें हॉकी, बास्केटबाल, खो-खो, वॉलीबाल, फुटबाल व अन्य टीमें शामिल है।

साल 2018 व 2019 की बात करें तो दोनों बार यूथ गेम्स की पदक तालिका में पंजाब को सातवां स्थान मिला था। पहले व दूसरे स्थान महाराष्ट्र व हरियाणा की टीमें थीं। ऐसे में पंजाब की इस बार यही कोशिश होगी कि रैंकिंग को सुधारा जाए और कम से कम हैट्रिक से तो बचा ही जाए। खेल विभाग को भी ऐसी ही उम्मीद है।

-----------

पंजाब के बीस खिलाड़ियों को मिली है पांच-पांच लाख रुपये की वित्तीय सहायता

खेलो इंडिया यूथ गेम्स में बेहतर प्रदर्शन करने वाले एक हजार खिलाड़ियों में पंजाब के बीस ऐसे खिलाड़ी थे, जिन्हें पांच-पांच लाख रुपये की वित्तीय सहायता मिली थी ताकि आने वाले टूर्नामेंट में वे अपने खेल कौशल को विकसित कर सकें। चयनित खिलाड़ियों को सरकार द्वारा संचालित खेल अकादमियों में प्रशिक्षण दिया जाता है।

----

जूडो, जैवलिन थ्रो में अच्छा था प्रदर्शन

पिछले साल यूथ गेम्स में जूडो का शानदार प्रदर्शन रहा था। अंडर-21 में पंजाब 18 प्वाइंट के साथ तीसरे व अंडर-17 वर्ग में 17 प्वाइंट के साथ दूसरे स्थान पर काबिज था। जैवलिन थ्रो के अंडर-17 वर्ग में पंजाब के कुवंर अजय राणा ने यूपी के सूरज कुमार व बिाहर के सुदामा को मात देकर स्वर्ण पदक जीता था। पंजाब की चनवीर कौर ने 200मी रेस में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था।

-------

इस बार पंजाब की रैंकिंग सुधरेगी

खेल विभाग के डिप्टी डायरेक्टर करतार सिंह ने कहा कि खेलो इंडिया के लिए विभाग की ओर से टीमों लिस्ट बनाकर फेडरेशन को भेजी जा चुकी है। यूथ गेम्स में खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन की उम्मीद है। पिछले साल पदक तालिका में पंजाब सातवें स्थान पर था। इस बार पंजाब अपना स्थान तालिका में बेहतर करेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!