जालंधर, जेएनएन। फ्रेंडस कॉलोनी में रहने वाली पूर्व लेक्चरर 35 साल की आशिमा ने सोमवार देर शाम अपने घर में फंदा लगा कर जान दे दी। पत्नी की मौत के बाद उसके रेडीमेड कपड़ा व्यापारी पति 37 साल से विकास ने गोराया-फिल्लौर रेल लाइन पर ट्रेन के आगे कूद कर आत्महत्या कर ली। आशिमा की मौत के बाद उसके परिजनों ने थाना डिवीजन नंबर एक की पुलिस को शिकायत दी थी कि आशिमा ने अपने पति से तंग आकर आत्महत्या की। आरोप था कि पत्नी को आत्महत्या के लिए उकसा कर विकास खुद फरार हो गया है। पुलिस अभी मामले की जांच कर ही रही थी कि मंगलवार को विकास की ओर से आत्महत्या करने की सूचना मिल गई। वहीं, विकास के परिजनों ने आरोप लगाया कि इलाके में रहने वाले एक कांग्रेस नेता के तंग करने पर आशिमा ने आत्महत्या की थी और उसी की धमकियों से परेशान होकर विकास ने मंगलवार को ट्रेन के आगे कूद कर जान दे दी है।

थाना डिवीजन नंबर एक के प्रभारी राजेश कुमार ने बताया कि आशिमा के पिता रइया निवासी स्पेयर पार्टस व्यापारी रूप लाल कालिया ने थाने में आकर बताया कि उसकी बेटी आशिमा एक निजी कॉलेज में पढ़ाती थी। कुछ समय पहले उसने नौकरी छोड़ दी थी जिसके बाद से विकास उसे परेशान करने लगा था। आए दिन उसकी बेटी से मारपीट होती थी। इसी से परेशान होकर उसने आत्महत्या कर ली है।

थाना प्रभारी ने बताया कि शिकायत के बाद अभी जांच की जा रही थी कि मंगलवार को विकास के आत्महत्या करने की सूचना मिली। उनका कहना था कि अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है कि दोनों ने आत्महत्या क्यों की। हालांकि लड़की के परिजनों के बयानों की जांच भी की जा रही है। बुधवार को इलाके के लोगों से इस बारे में पूछताछ की जाएगी, जिसके बाद अगली कार्रवाई की जाएगी।

रइया में शुरु हुई लव स्टोरी, फ्रेंडस कालोनी में हुआ दुखद अंत

जालंधर [सुक्रांत]। रइया में रहने वाले दो दिलों की प्रेम कहानी बारह साल पहले शुरू हुई लेकिन उसका दुखद अंत जालंधर की फ्रेंडस कालोनी में हो गया। रइया में रहने वाली आशिमा और विकास के बीच कॉलेज के टाइम से प्यार शुरु हुआ। परिजनों की मर्जी के बिना कोर्ट में जाकर शादी करने वाले विकास और आशिमा अपने परिवार से अलग होकर जालंधर में रहने लगे। इनकी नौ और चार साल की दो बेटियां हैं। इसी बीच इन दोनों के बीच में कोई तीसरा आ गया जिसके चलते ऐसा विवाद शुरू हुआ जो दोनों की जान ले गया और मासूम बच्चियों को अनाथ कर गया।

इलाके के कांग्रेस नेता पर उठ रही अंगुलियां

परिजनों की मानें तो इलाके के ही कांग्रेसी नेता के पास कुछ ऐसा था जिससे वो आशिमा को ब्लैकमेल कर रहा था। आशिमा ने यह बात अपने पति को बताई जिसके बाद विकास और उस कांग्रेसी नेता के बीच भी लड़ाई हुई। इस लड़ाई का लावा दोनों के घर तक भी पहुंचा और मोहल्ले वालों के मुताबिक इसी बात को लेकर दोनों के बीच भी झगड़ा होने लगा था। रविवार को भी इलाके में कांग्रेस नेता और विकास के बीच जमकर लड़ाई हुई जो आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो चुकी है। आशिमा के परिजनों ने जो आरोप लगाए हैं उसके आधार पर देखा जाए तो 12 साल पहले हुई लव मैरिज में दो बेटियां पैदा हुई लेकिन आशिमा और विकास के बीच कोई विवाद नहीं था। ऐसे में करीब पांच महीने पहले ही नौकरी छोड़ने के बाद ऐसा क्या हो गया कि दोनों के बीच का प्यार नफरत में बदल गया। विकास रेडीमेड कपड़ों का व्यापार करता था और मोहल्ले के लोगों की मानें तो काम काफी अच्छा था और दोनों एक अच्छी कालोनी में बने अच्छे घर में आराम से रहते थे।

थाना प्रभारी राजेश कुमार से इस बारे में बात की गई तो उनका कहना था कि उनके पास लड़की के परिजनों की शिकायत आई थी लेकिन अब लड़के का शव मिलने के बाद जांच की सुई दूसरी और घूम गई है। जल्द ही लड़के पक्ष का बयान लिया जाएगा जिसके बाद अगली कार्रवाई की जाएगी।

तीसरा लॉकडाउन शुरू होने पर रइया गए थे पति-पत्नी, दो दिन बाद ही वापस लौटे थे

विकास और आशिमा तीसरा लॉकडाउन शुरू होने पर रइया विकास के परिवार के पास गए थे और दो दिन बाद ही वापस लौट आए थे। सूत्र बताते हैं कि वापस आने पर उनका कांग्रेस नेता से फिर से विवाद शुरू हो गया। रविवार को हुई लड़ाई के बाद कांग्रेसी नेता ने दोनों को कोई धमकी दी थी। इसी कारण सोमवार को विकास उसके यहां फिर लड़ने के लिए गया था। इधर, विकास वहां पर लड़ाई कर रहा था उधर आशिमा ने अपने घर पर चादर पंखे से बांध कर फंदा लग लिया। विकास वापस आया तो पत्नी को लटकता देख कर घर से चला गया। 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

 

 

Posted By: Pankaj Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!