जालंधर, जेएनएन।  नए खोले जा रहे करतारपुर कॉरीडोर के जरिए पाकिस्तान स्थित श्री करतारपुर साहिब जाने के इच्छुक श्रद्धालुओं को रजिस्ट्रेशन के लिए अब कोई पैसा नहीं देना होगा। सेवा केंद्रों में इसके लिए ली जा रही 20 रुपये फॉर्म भरने की फीस को भी सरकार ने बंद करने के आदेश दे दिए हैं। यह फीस सोमवार से अब सेवा केंद्रों में नहीं ली जा रही। हालांकि पासपोर्ट की शर्त की वजह से श्रद्धालुओं को परेशानी उठानी पड़ रही है और रजिस्ट्रेशन कराने वालों की संख्या काफी कम आ रही है।

जालंधर जिले में शुक्रवार से लेकर मंगलवार तक चार दिनों में सिर्फ 69 श्रद्धालुओं ने ही श्री करतारपुर साहिब के दर्शनों के लिए जाने को रजिस्ट्रेशन कराया है। पाक सरकार ने भले ही खास मौकों पर पासपोर्ट की शर्त हटा दी हो लेकिन यहां सेवा केंद्रों में इसके लिए पासपोर्ट जरूरी है। हालांकि अगर कोई पूरा परिवार जाना चाहता है या पति-पत्नी जाना चाहते हैं तो फिर उनमें से एक ही का पासपोर्ट लगेगा। वहीं, आधार कार्ड भी इसके साथ जरूरी किया गया है। जिन श्रद्धालुओं के पास पासपोर्ट नहीं है, उन्हें सेवा केंद्रों से वापस लौटना पड़ रहा है।

एक परिवार से एक ही पासपोर्ट ले रहेः सेवा केंद्र

सेवा केंद्र के इंचार्ज हरप्रीत सिंह ने कहा कि सरकार ने फॉर्म भरने की फीस बंद कर दी है। पासपोर्ट को लेकर हमारे पास ऐसा कोई निर्देश नहीं आया, इसलिए रजिस्ट्रेशन के वक्त पासपोर्ट अनिवार्य किया गया है। इतना जरूर है कि एक परिवार की रजिस्ट्रेशन के लिए एक ही सदस्य का पासपोर्ट लिया जाएगा।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़ें: Honeypreet Insan Bail हनीप्रीत जेल से रिहा, गुरमीत राम रहीम की राजदार काे कोर्ट से बड़ी राहत

Posted By: Pankaj Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!