जालंधर, जेएनएन। आम आदमी पार्टी (आप) की जिला प्रधान राजविंदर कौर, देहात प्रधान प्रिंसिपल प्रेम कुमार और किसान नेता रतन सिंह ककड़ कलां ने कहा है कि केंद्र सरकार ने डीएपी खाद की कीमतों में बढ़ोतरी करके पंजाब के किसानों की पीठ में छुरा घोंपा है। आप नेताओं ने कहा कि केंद्र सरकार ने डीएपी की एक बोरी की  कीमत 1200 रुपये से बढ़ाकर 1900 रुपये कर दी है। उन्होंने कहा कि पंजाब मे 8 लाख टन खाद का प्रयोग होता है। इस हिसाब से केंद्र सरकार ने किसानों पर 1100 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ डाल दिया है।

आप नेता ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए तीन काले कानूनों से किसानों के साथ-साथ आढ़तियों और व्यापारियों को बड़ा नुकसान हो रहा है। उन्होंने कहा कि एक तरफ  किसानों को फसलों का रेट नहीं मिल रहा है तो दूसरी तरफ डीएपी खाद व अन्य सामान की कीमत में डेढ़ गुणा बढ़ोत्तरी करने से प्रधानमंत्री मोदी की किसान विरोधी नीति बेनकाब हो गई है। पंजाब की कैप्टन सरकार की चुप्पी से यह साफ होता है कि किसानों के साथ खड़े होने का दिखावा बेबुनियाद है।

राजविंदर कौर, प्रिंसिपल प्रेम कुमार और किसान नेता रतन सिंह ककड़ कलां ने कहा कि तीनों कृषि सुधार कानूनों को बनाने के लिए केंद्र सरकार के साथ-साथ पंजाब की कैप्टन सरकार भी जिम्मेदार है। पंजाब सरकार ने केंद्र सरकार के पास किसानों के साथ व्यापारियों का भी पक्ष सही से नहीं रखा, जिससे किसानों के साथ आढ़तियों और व्यापारियों को बड़ा नुकसान हो रहा है।  राजविंदर कौर ने कहा कि आम आदमी  पार्टी किसानो, आढ़तियों और छोटे कारोबारियों के साथ खड़ी रहेगी। पार्टी किसानों के संघर्ष में उनके साथ है।

यह भी पढ़ें - पटियाला में सीएम आवास घेरने जा रहे बेरोजगारों पर लाठीचार्ज, 50 से ज्यादा हिरासत में

यह भी पढ़ें - एक्टर सतीश कौल का लुधियाना में अंतिम संस्कार, महाभारत में इंद्र के किरदार ने किया था चर्चित