जालंधर [फरीद शेखूपुरी]। पंजाब के लोगों में विदेश में सेटल होने का जुनून सबसे ज्यादा है। इसी का फायदा उठाकर फर्जी ट्रैवल एजेंट युवाओं को सुनहरे सपने दिखाकर अपने झांसे में फंसाते हैं और फिर उनसे लाखों रुपये ठग लेते हैं। शुक्रवार को दिल्ली हवाई अड्डे पर मैक्सिको से डिपोर्ट किए गए 300 से ज्यादा लोगों के पहुंचने के बाद पंजाब में 'कबूतरबाजी' का खेल फिर चर्चा में आ गया है क्योंकि लौटे लोगों में अधिकर पंजाब से हैं। घटना से साफ है कि पंजाब में ट्रैवल एजेंटों का कबूतरबाजी का खेल बड़े स्तर पर खेला जा रहा है और तमाम दावों के बावजूद पुलिस अवैध ट्रैवल एजेंटों पर नकेल कसने में नाकाम है।

गत जुलाई में विदेश मंत्रालय ने एक लिस्ट जारी की थी। इसके मुताबिक वर्तमान में चंडीगढ़ समेत पूरे पंजाब में 76 गैरकानूनी ट्रैवल एजेंट हैं। सूची आने के बाद अधिक्तर एजेंट अपना ठिकाना बदल दूसरे शहर में चले गए हैं। इनके अलावा 30 हजार से ज्यादा फर्जी ट्रैवल एजेंट पंजाब में ऐसे हैं, जिनका कोई पता-ठिकाना नहीं है। ये निजी संबंधों के माध्यम से विदेश जाने के चाह रखने वालों को अपने जाल में फंसाकर फर्जीवाड़ा करते हैं।

अमेरिका भेजने के नाम पर ठगते हैं 40 लाख रुपये

फर्जी ट्रैवल एजेंट लगभग हर व्यक्ति को विदेश फर्जी तरीके से ही भेजते हैं। इस कारण अगर कोई विदेश पहुंच भी जाए तो उसे कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। फर्जी ट्रैवल एजेंटों ने लगभग हर देश के अलग रेट तय किए हुए हैं। अमेरिका जाने के लिए 20 से 40 लाख रुपये और कनाडा के 15 से 35 लाख रुपये तक लिए जाते हैं। यूरोपिय देशों के आठ लाख से 22 लाख, यूके के लिए 50 लाख और मिडल ईस्ट के देशों के लिए छह से 15 लाख रुपये तक वसूले जा रहे हैं।

महीने में 20 करोड़ का गोरखधंधा

शहर के मशहूर ट्रैवल एजेंट ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि इस धंधे में करोड़ों रुपये का मुनाफा है। इसी कारण फर्जी लोग इस में जुड़कर गलत तरीकों से लोगों को विदेश भेजते हैं। अगर आंकड़ों में बात की जाए तो हजारों की तादाद में फैले छोटे और बड़े फर्जी एजेंट सिर्फ एक माह में ही लोगों से 20 से 25 करोड़ रुपये ठग लेते हैं।

जालंधर के ये दो मामले बयां जमीनी हकीकत

  1. फर्जी एजेंट कपिल पुलिस को झांसा देकर हुआ अंडरग्राउंड जालंधर के पुलिस लाइंस रोड स्थित वसल मॉल में स्टडी एक्सप्रेस नाम की ट्रेवल एजेंसी के मालिक कपिल शर्मा पर एक ही थाने में धोखाधड़ी के 35 केस दर्ज हैं। सभी मामलों में आरोपित ने स्टडी वीजा पर कनाडा भेजने के नाम पर कुल साढ़े तीन करोड़ रुपये लोगों से ठगे हैं। इतने मामले दर्ज होने के बाद भी जालंधर पुलिस कपिल को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। बताया जाता है कि शहर के बड़े पुलिस अफसरों की मिलीभगत से वह नेपाल के रास्ते देश छोड़ चुका है।
  2. चड्ढा दंपति 26 लाख की धोखाधड़ी में गिरफ्तार शुक्रवार को जालंधर शहर के थाना बस्ती बावा खेल पुलिस ने शास्त्री नगर निवासी हर्ष चड्ढा और उसकी पत्नी को रिंकी को 26 लाख रुपये की धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार किया है। उन पर आरोप है कि उन्होंने शिकायतकर्ता को आस्ट्रेलिया भेजने के झांसे में फंसा 26 लाख रुपये ऐेंठ लिए।

एडीशनल चीफ सेक्रेटरी होम बोले- फर्जी एजेंटों के खिलाफ होगी कार्रवाई

अवैध तरीके से युवाओं को गुमराह करके विदेश भेजने का काम अनधिकृत ट्रेवल एजेंट ही कर रहे हैं। एजेंट किसी को गलत तरीके से विदेश न भेजें, इसके लिए पंजाब सरकार ने एक्ट बनाया है। इसके तहत सभी एजेंटों के लिए लाइसेंस लेना जरूरी है। मैक्सिको से जिन युवाओं को डिपोर्ट किया गया है, उन्हें किस एजेंट ने कितने रुपये लेकर भेजा है, इसका नोटिस लिया गया है। इन युवाओं से भी शिकायत लेकर जांच की जाएगी। हम दूतावास से भी इनका रिकार्ड मांग रहे हैं। अगर किसी युवा ने शिकायत नहीं भी दी तब भी दूतावासों से रिकार्ड लेकर एजेंटों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!