जालंधर, जेएनएन। जालंधर में एक्साइज विभाग चंडीगढ़ व लोकल टीम ने बुधवार को रायपुर से धोगड़ी रोड स्थित भाजपा नेता राजन अंगुराल की शराब की फैक्ट्री पर दबिश दी। फैक्ट्री में शराब तैयार करने संबंधी मशीनें लगी हुई थी। हालांकि फैक्ट्री अभी शुरू नहीं हुई थी। वहां से शराब तैयार करने वाला सामान भी बरामद हुआ है। इस कार्रवाई से सनसनी मची हुई है। फैक्ट्री में कार्रवाई के दौरान विभाग की टीम और राजन अंगुराल के लोगों के बीच विवाद भी हुआ। दूसरी तरफ एक्साइज विभाग की टीम ने नागरा के शिव विहार में भी एक घर में दबिश की। इस दौरान छह बोरे शराब की बोतलों के ढक्कन जब्त किए गए हैं। हर बोरे में 7500 शराब की बोतलों के ढक्कन भरे हुए थे। विभाग ने करीब 42 हजार ढक्कन बरामद करके कब्जे में ले लिए हैं।

थाना डिवीजन नंबर एक के एचएचओ राजेश कुमार ने कहा कि इस मामले में घर मालिक सूरज कुमार पुत्र मोहिंदर पाल के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। एक्साइज विभाग के डीईटीसी जसपिंदर सिंह ने कहा कि फैक्ट्री में मशीनें लगाई गई थी, जिससे शराब को भरा जाना था। फिलहाल सामान को जब्त कर लिया गया है। उन्होंने कहा है कि फैक्ट्री से 11000 खाली बोतलें बरामद हुई हैं। इसके अलावा 3400 गत्ते के डिब्बे बरामद किए गए हैं। दोनो मामलों की छानबीन जारी है।

फैक्ट्री में शराब नहीं, सैनिटाइज बनाना था : राजन अंगुराल

भाजपा नेता राजन अंगुराल ने कहा कि फैक्ट्री में शराब बनाने का काम नहीं चल रहा था। उन्होंने एक सप्ताह पहले ही फैक्ट्री खरीदी है। फैक्ट्री में सैनिटाइजर और मास्क बनाने का काम शुरू किया जाना था। राजनीतिक रंजिश के चलते मुझे फंसाया जा रहा है। राजन ने आरोप लगाया है कि एक्साइज विभाग की टीम ने भाई सन्नी के साथ मारपीट की है। इसका वीडियो मेरे पास है। जल्द ही प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से सच सामने लाया जाएगा। उन्होंने कहा है कि एक्साइज विभाग ने फैक्ट्री के अंदर बोतल पकड़ने की बात कही है। उन बोतलों में सैनिटाइजर भरा जाना था।

उन्होंने कहा कि एक्साइज व पुलिस विभाग धक्केशाही कर रहा है। इसकी शिकायत एससी कमीशन को भेज दी है। राजन ने कहा कि फैक्ट्री में न बिजली कनेक्शन है और न ही पानी का कनेक्शन दिया गया है। अंदर सिर्फ सैनिटाइजर बनाने वाली मशीन लगाई थी। इसके खिलाफ वह हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे। राजन ने कहा कि मेरे, शीतल अंगुराल और सन्नी अंगुराल के खिलाफ मामला दर्ज करने की बात कही जा रही है। हालांकि इसकी पुलिस अधिकारियों ने नहीं की है।

Edited By: Vinay Kumar