जालंधर, जागरण संवाददाता। 11वें दिन भी छठे वेतन आयोग की सिफारिशों के खिलाफ वीरवार को सरकारी डाक्टरों ने हड़ताल जारी रखी। वहीं पशु चिकित्सा केंद्रों में भी डाक्टरों ने ओपीडी बंद रखी और इमरजेंसी सेवाएं दी। डाक्टरों ने ईएसआइ अस्पताल के ओपीडी कांप्लेक्स में धरना प्रदर्शन किया। डाक्टर प्रदर्शन करते रहे और मरीज उनका इंतजार करते रहे।

ईएसआइ अस्पताल में मिट्ठू बस्ती से आई रजनी ने बताया कि उनके पति जसप्रीत सिंह को निजी अस्पताल में रेफर करवाने के लिए पिछले चार दिन से चक्कर लगा रही हूं। वीरवार को सुबह नौ बजे अस्पताल में पहुंच गई थी। 11.30 बजे डाक्टरों का प्रदर्शन खत्म हुआ और फाइल पर हस्ताक्षर होने के बाद उम्मीद जागी। बस्ती बावा खेल में रहने वाले बच्चे संदीप की पिछले माह सड़क हादसे में टांग टूट गई थी। उसकी मां ने बताया कि पिछले तीन दिन से पट्टी में करवाने और दवा के लिए संदीप को लेकर आ रही है, परंतु बैरंग लौटना पड़ रहा है। दवा न मिलने से उसकी टांग में फिर से दर्द बढ़ने लगी है।

वहीं सिविल अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में लोगों का तांता लगा रहा। लोगों को सेवाएं लेने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा। इमरजेंसी में केवल एक ही डाक्टर तैनात था। पीसीएमएस डाक्टर्स एसोसिएशन के प्रधान डा. प्रदीप शर्मा व डा. वीरइंद्र ने बताया कि शुक्रवार को 100 डाक्टर चंडीगढ़ सीएम आवास का घेराव करने जाएंगे।

---------

यह भी पढ़ेंः दोआबा कालेज में विद्यार्थी कर सकेंगे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी

जालंधर। दोआबा कालेज में कंपीटिशन सेंटर की स्थापना की गई, जहां ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन कर रहे विद्यार्थी डिग्री के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की भी तैयारी कर सकेंगे। ¨प्रसिपल डा. प्रदीप भंडारी ने कहा कि इस सेंटर के द्वारा विद्यार्थियों को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की लिखित तैयारी का ज्ञान व सामग्री जिसके तहत जनरल नालेज, मेंटल एबिलिटी एंड रीजनिंग, मैथेमेटिक्स, अंग्रेजी व इंटरव्यू तकनीक के बारे में जानकारी मुहैया करवाई जाएगी। यह विशेष कोचिंग कोई भी डिग्री कर रहे किसी भी कालेज के विद्यार्थियों को रोजाना एक्सपर्ट टीचर देंगे। क्वेस्ट फार नालेज में प्रो. सुरजीत कौर ने विद्यार्थियों को विभिन्न कंपीटीशंस में कामर्स विषय से संबधित पूछे जाने वाले टापिक्स की जानकारी दी।

Edited By: Vikas_Kumar