जागरण संवाददाता, जालंधर : दोआबा कॉलेज में चल रही सात दिवसीय राष्ट्रीय फैकल्टी डवलपमेंट के समापन पर वक्ता के रूप में फैकल्टी ऑफ लेंग्वेज सेंट्रल यूनिवर्सिटी हिमाचल प्रदेश के डीन डॉ. रोशन लाल ने शिरकत की। उन्होंने हायर एजुकेशन व रोल ऑफ मीडिया इन एजुकेशन पर विचार रखे। डॉ. रोशन लाल ने कहा कि एक अध्यापक में क्रिएटिविटी व क्रिटिकल थि¨कग का होना जरूरी है। उसे लर्नर को प्रश्न पूछने की आजादी देनी चाहिए। डॉ. कुंवर राजीव ने विद्यार्थियों को याद्दाश्त को तेज करने के ढंग बताए। ऐसा करने के लिए स्वयं पर विश्वास, स्वयं से बातचीत, निर्धारित लक्ष्य तथा आत्मनियंत्रण होना चाहिए। डॉ. रजनीश कुमार ने इनोवेशन इन टी¨चग एंड लर्गिंग पर विचार रखे।

डॉ. विशाल सरीन ने वर्तमान दौर में शिक्षा व रिसर्च के बदलते परिवेश के बारे में बताया। डॉ. नम्रता जोशी ने ¨प्रट व इलेक्ट्रोनिक्स मीडिया के उच्च शिक्षा के महत्व का जिक्र किया। ¨प्रसिपल डॉ. नरेश कुमार धीमान ने वक्ताओं को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस मौके पर डॉ. अविनाश बावा, सह-संयोजक प्रो. सुरेश मागो व अन्य स्टाफ सदस्य उपस्थित थे।

Posted By: Jagran