तरनतारन [धर्मबीर सिंह मल्हार]। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ की ओर से आतंकियों से मिलकर पंजाब को दहलाने की कई साजिशें रची जा रही हैं। इसके लिए पाक से लगातार ड्रोन के माध्यस से असलहा और हेरोइन की खेप भेजी जा रही है। मगर हमारी सुरक्षा एजेंसियां उनकी इस हरकत पर पानी फेर रही हैं। शुक्रवार को भी तड़के 3:35 मिनट पर बुर्जी नंबर 173-20 के पास ड्रोन देखा गया। यह ड्रोन कंटीली तार से महज 250 फुट की ऊंचाई पर था। बीएसएफ के जवानों ने करीब 12 राउंड फायर किए तो ड्रोन लौट गया। 103 बटालियन के कमांडेंट वीएन गोस्वामी की अगुआई में सुबह सात बजे से दोपहर 12:40 तक सर्च अभियान भी चलाया गया। हालांकि कुछ बरामद नहीं हुआ है। खास बात यह है कि हाल ही में जितने भी ड्रोन पाक के भेजे गए वे धर्मा पोस्ट के पास ही देखे गए हैं। यह पोस्ट असलहा पहुंचाने के लिए साफ्ट कार्नर बनी हुई है।

बुधवार की रात को पुलिस ने सीमावर्ती गांव भगवानपुरा के समीप स्विफ्ट कार में सवार खालिस्तान टाइगर फोर्स (केटीएफ) के तीन आतंकियों कुलविंदर सिंह उर्फ किंदा, कमलप्रीत सिंह उर्फ मान, कंवरपाल सिंह उर्फ कौली को गिरफ्तार किया था। उनसे दो टिफिन बम, दो हैंड ग्रेनेड व तीन पिस्टल बरामद किए गए थे। प्रारंभिक पूछताछ में उन्होंने बताया कि ये हथियार पाक से सोमवार की रात ड्रोन के जरिए भेजे गए थे। सूत्रों के अनुसार जांच में यह बात सामने आई है कि भारतीय सीमा से महज दो सौ मीटर दूरी पर बसे पाकिस्तानी गांव बड़ा जामन से ही पाकिस्तान की ओर से ड्रोन भेज भारतीय सीमा में हथियार और नशे की सप्लाई की जाती है। इधर, पाक सीमा से सटे भारतीय क्षेत्र के गांव डल्ल जहां कंटीली तार के पास बीएसएफ की धर्मा पोस्ट है। वहां तैनात बीएसएफ के जवान पाक की हर कोशिश को नाकाम करने के लिए डटे हुए हैं। इस पोस्ट के आसपास कलसियां, दोदे, वां तारा सिंह, खालड़ा, राजोके गांव लगते हैं।

भारत सरकार ने अपनी सीमा में लगाई है कंटीली तार

केंद्र सरकार द्वारा भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 1990 में कंटीली तार लगाई गई थी। राज्य से संबंधित छह जिलों के 220 गांवों की 21 हजार, 300 एकड़ जमीन कंटीली तार के प्रभाव में है। जबकि पाक की ओर से सीमा पर कोई कंटीली तार नहीं लगाई गई। सीमा पर बीएसएफ की ओर से मुस्तैदी से नजर रखी जाती है जबकि पाक के रेंजर बहुत कम संख्या में दिखाई देते हैं।

इसी माह ड्रोन से हुई घुसपैठ

  • एक माह में पाक की हरकतों पर नजर दौड़ाएं तो एक सितंबर की रात को पीओपी धर्मा पोस्ट के समीप ड्रोन के माध्यम से पहुंचाए गए चार विदेशी पिस्टल (प्वाइंट30 बोर), 40 कारतूस, आठ मैगजीन, दो किलो हेरोइन की खेप अमृतसर देहाती पुलिस ने बरामद की थी।
  • तीन सितंबर को इसी क्षेत्र में (गांव राजोके) दो ड्रोन देखे गए थे।
  • 11 सितंबर की रात को उक्त क्षेत्र में आती बीओपी मंगली के पास आधी रात को ड्रोन देखा गया।
  • 14 सितंबर की रात को बुर्जी नंबर 149-38 के पास ड्रोन देखा गया।
  • 20 सितंबर की रात को धर्मा पोस्ट पर तैनात बीएसएफ के जवानों द्वारा रात 12.20 मिनट से 12.24 के दौरान -पाक को लौटते दो ड्रोन देखे गए थे।
  • 22 अगस्त 2020 को बीएसएफ के जवानों ने भारतीय क्षेत्र में दाखिल हुए पांच पाक घुसपैठियों को ढेर कर दिया था। इनके कब्जे से एक एके 47 राइफल, चार पिस्टल, नौ मैगजीन, 136 कारतूस, नौ किलो, 920 ग्राम हेरोइन बरामद हुई।

 

Edited By: Vinay Kumar