जागरण संवाददाता, जालंधर। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की ओर से लोगों को जो पांच मरले के प्लाट देने के कार्ड दिए जा रहे हैं वह महज एक झांसा है। सीएम चन्नी जो पांच मरला प्लाट के कार्ड बांट रहे हैं वो कोई असलियत नहीं है। वह मात्र एक कैप्टन अमरिंदर सिंह के रोजगार कार्ड की तरह ही है जिसके तहत किए गए वादे कभी पूरा नहीं हो सके और युवाओं को साढ़े चार साल में कोई रोजगार नहीं मुहैया करवाया गया। जालंधर के सर्कट हाउस में मात्र कुछ मिनट ही दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने संबोधित किया।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि आर्थिक तौर पर कमजोर लोगों को पांच मरला जमीन देने की योजना 1961 से चल रही है। लेकिन मुख्यमंत्राी चन्नी को यह बताया चाहिए उनके ही अपने विधानसभा क्षेत्र में कितने लोगों को अभी तक पांच मरला प्लाट मिल सके हैं। उन्होंने लोगों को आगाह करते हुए कहा कि वह चरणजीत चन्नी की तरफ से बांटे जा रहे पांच मरला प्लाट के कार्ड के झांसे में न आए। पंजाब के खाली पड़े खजाने पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए मनीश सिसोदिया ने कहा कि खजाने को लूटा गया है इसललिए वह खाली है।

यह भी पढ़ें-  अमृतसर में बोले दिल्ली के डिप्टी सीएम सिसोदिया- सिंघु बार्डर पर हत्या बेहद दुर्भाग्यपूर्ण, बर्बरता की सारी हदें पार कर दी

उन्होंने कहा कि जनता तो टैक्स देती है लेकिन लोगों के दिए गए टैक्स पर अगर मंत्रियों को सुविधाएं दे दी जाएं तो फिर खजाना नहीं भर सकता है। अरविंद केजरीवाल की तरफ से इसी सप्ताह जालंधर के दो दिन दौरे के दौरान किए गए दस वादों को हर हाल में पूरा करने का दावा करते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा कि आम आदमी पार्टी पहले रिसर्च करती है और फिर उसके बाद कोई वादा करती है।

इसी वजह से मुख्यमंत्री केजरीवाल की ओर से किए गए वादे हर हाल में पूरे किए जाएंगे, उन्होंने कहा कि दिल्ली में टैक्स के सद्पयोग के चलते बजट सात वर्ष में ही 60 हजार करोड़ तक पहुंच गया है। इस मौके पर पंजाब विधानसभा में विपक्षा के नेता हरपाल सिंह चीमा, आप महिला विंग पंजाब की अध्यक्ष राजविंदर कौर, बलकार सिंह व अन्य उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें-  अकाली दल छोड़ आप में शामिल हुए इकबाल सिंह ढींढसा, चंडीगढ़ में विधायक बलजिंदर कौर ने किया पार्टी में शामिल

Edited By: Vinay Kumar