संवाद सहयोगी, जालंधर : पुलिस कमिश्नर नौनिहाल सिंह ने सुरक्षा बढ़ाने के आदेश दिए तो डीसीपी जसकिरण जीत सिंह तेजा कुछ देर बाद ही शहर के गन हाउस चेक करने निकल पड़े। थाना चार के पास स्थित राष्ट्रीय गन हाउस पर पहुंचते ही उनका पहला सवाल था, रिकार्ड दिखाओ। उन्होंने रिकार्ड बुक देख कर जमा हथियार भी चेक किए।

डीसीपी तेजा ने बताया कि चुनाव से पहले पुलिस कमिश्नर नौनिहाल सिंह ने सभी को अपने लाइसेंसी हथियार जमा करवाने के आदेश जारी किए थे। ऐसे में वह गन हाउस पर यह जानने के लिए पहुंचे थे कि क्या लोग हथियार जमा करवा रहे हैं। यदि करवा रहे हैं तो गन हाउस वाले कहीं लापरवाही तो नहीं बरत रहे। उन्होंने बताया कि शहर में 15 हथियार डीलर हैं और सभी का रिकार्ड चेक किया जा रहा है। इसके अलावा वहां के सुरक्षा प्रबंधों की भी जांच की जाएगी कि सुरक्षा गार्ड है या नहीं, स्टांग रूम है या नहीं और सीसीटीवी कैमरा लगे हैं या नहीं। उन्होंने सभी को हिदायत दी कि सुरक्षा के सारे प्रबंध सही रखें। स्थायी चौकीदार रखें। डीवीआर भी दुरुस्त रखें अन्यथा उन पर भी कार्रवाई हो सकती है। शहर में निकाला फ्लैग मार्च

पुलिस ने शनिवार देर शाम को शहर में फ्लैग मार्च निकाया। गढ़ा में एसीपी गुरप्रीत सिंह के नेतृत्व में फ्लैग मार्च निकाला गया। इस दौरान एसीपी गुरप्रीत सिंह ने लोगों से अपील की कि किसी भी लावारिस वस्तु या किसी संदिग्ध व्यक्ति को देख कर तुरंत पुलिस को सूचित करें। इस दौरान वाहनों की चेकिग भी की गई।

शहर में पोस्टरों के जरिए लोगों को किया जाने लगा प्रेरित

जिला प्रशासन की तरफ से चुनावों के दौरान अलग-अलग बातों के लिए पोस्टरों के जरिए प्रेरित किया जाने लगा है। शहर के कई हिस्सों में पोस्टर लगा कर आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों की शिकायत के लिए नंबर जारी, थर्ड जेंडर को चुनावों में सक्रिय भूमिका निभाने के लिए उत्साहित करने, दिव्यांगों को उनको मिलने वाली सहूलियत के बारे में और एनआरआइ को उनके अधिकार बताए जा रहे हैं।

Edited By: Jagran