जेएनएन, जालंधर। पुलिस ने बिना शिनाख्त के होटल अौर गैस्ट हाउस में किसी को ठहराने पर पाबंदी लगा दी है। डीसीपी गुरमीत सिंह ने धारा 144 के तहत आदेश दिए कि होटल में ठहरने वाले हर व्यक्ति व यात्री का समर्थ अधिकारी द्वारा जारी फोटो शिनाख्ती कार्ड की अटेस्ट की हुई फोटो कॉपी रखनी जरूरी होगी। फिर इसका रिकॉर्ड रजिस्टर में मेंटेन कर रोजाना सुबह दस बजे अपने इलाके के थाने में भेजेंगे।

वहीं हर सोमवार को इसे थाने के एसएचओ से तस्दीक कराना होगा। अगर कोई विदेशी व्यक्ति उनके यहां ठहरता है तो इसके बारे में पुलिस कमिश्नर दफ्तर में बने फॉरनर्स रजिस्ट्रेशन ऑफिस के इंचार्ज को बताना होगा। होटल और गैस्ट हाउस के काॅरीडोर, लिफ्ट, रिशेप्सन काउंटर व मेन एंट्री गेट पर सीसीटीवी कैमरे लगाने जरूरी होंगे। अगर कोई संदिग्ध व्यक्ति उनके यहां ठहरता है तो तुरंत पुलिस कंट्रोल रूम में सूचना देनी होगी।

इसके अलावा रात दस बजे से सुबह छह बजे के दौरान ढोल, भोपूं आदि शोर करने वाले यंत्र बजाने पर पाबंदी लगा दी गई है। उन्होंने मकान मालिकों को भी आदेश दिया है कि वो घरों में किरायेदार, पीजी मालिक और घरों में नौकर रखने से पहले पुलिस के सांझ केंद्र में सूचना दें। उन्होंने पुलिस कमिश्नरेट इलाकों में पटाखा निर्माताओं व डीलरों को आदेश दिए कि पटाखों के पैकेट पर आवाज का लेवल दर्ज करना जरूरी है। यह आदेश 13 अक्टूबर तक लागू रहेंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Sat Paul