संवाद सहयोगी, गोराया : डिप्टी कमिश्नर वरिदर शर्मा ने अधिकारियों को हिदायत दी कि गोराया में सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के काम में तेजी लाई जाए।

डिप्टी कमिश्नर ने शुक्रवार को गोराया व फिल्लौर में अलग-अलग सरकारी दफ्तरों की जांच की। उन्होंने कहा कि लोगों को राहत पहुंचाने के लिए 16 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट का काम जल्द मुकम्मल किया जाए। इससे शहर को साफ-सुथरा व हरा-भरा बनाने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के काम को जल्द मुकम्मल करने की जरूरत है व साफ किए गए पानी को अधिक से अधिक सिचाई के लिए इस्तेमाल करने के लिए व्यापक प्रोग्राम भी बनाना चाहिए।

डिप्टी कमिश्नर ने नगर कौंसिल गोराया के कार्यकारी अफसर व नायब तहसीलदार गोराया के सभी रिकार्ड की जांच की। डीसी शर्मा ने सरकारी दफ्तरों द्वारा मुहैया करवाई जा रही सेवाओं बारे भी लोगों से विस्तृत बातचीत की।

इसके बाद डीसी ने एसडीएम दफ्तर फिल्लौर, नगर कौंसिल दफ्तर, फरद केन्द्र, खजाना दफ्तर, ब्लाक विकास व पंचायत अफसर दफ्तर तथा फिल्लौर के अन्य अलग-अलग सरकारी दफ्तरों की जांच की। डीसी शर्मा ने कहा कि सरकारी दफ्तरों की जांच करने का उद्देश्य दफ्तरों की कार्यप्रणाली को और भी सुचारू बनाना है। उन्होंने कहा कि सरकारी दफ्तरों की औचक जांच भविष्य में भी जारी रहेगा। इस मौके पर एसडीएम विनीत कुमार, तहसीलदार तपन भनोट व अन्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!