जालंधर, जेएनएन। सरकारी अफसरों व कर्मचारियों की कारगुजारी की जांच करने के लिए डीसी वरिंदर शर्मा ने मंगलवार को नूरमहल के सरकारी दफ्तरों में छापा मारा। इस दौरान पटवारखाने से पटवारी गैरहाजिर मिले। इस कारण काम करवाने पहुंचे लोग परेशान हो रहे थे। इस पर डीसी ने अफसरों को फटकार लगाते हुए चेतावनी दी कि पटवारियों का यहां बैठने सुनिश्चित करें। अगर दोबारा उनकी गैरहाजिरी की शिकायत मिली तो फिर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

डीसी ने नगर कौंसिल, नायब तहसीलदार व बीडीपीओ समेत अन्य सरकारी दफ्तरों में जांच की। तकरीबन तीन घंटे तक उन्होंने सरकारी अफसरों व कर्मचारियों की कारगुजारी देखी। डीसी ने दफ्तरों के रिकॉर्ड रजिस्टरों की भी जांच की और उन्हें मेंटेन न रखने पर चेतावनी भी जारी की। चेकिंग के बाद डीसी ने कहा कि इसका मुख्य मकसद सिर्फ गलतियां निकालना नहीं, बल्कि उन्हें सुधारकर दफ्तर का कामकाज सुचारू करना है। अगर कोई इसे हलके में लेगा तो फिर उसे बख्शा नहीं जाएगा। इस मौके उनके साथ बीडीपीओ कुलदीप कौर, फिल्लौर तहसीलदार तपन भनोट, नायब तहसीलदार परगन सिंह आदि मौजूद थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!