जागरण संवाददाता, जालंधर : रतन नगर में अवैध तरीके से सिलेंडरों से गैस निकालते समय आग लगने से महिला और बच्चे समेत चार लोग झुलस गए।

रत्न नगर में लवली मार्बल के पास स्थित एनआरआइ महिला कुलदीप कौर के क्वार्टर के एक कमरे में किराए पर रहते पत्थर के कारीगर उमेश महतो ने बताया कि सुबह 9.30 बजे पत्नी सोनिया देवी आंगन में चूल्हे पर लकड़िया जलाकर खाना बना रही थी। क्वार्टर के साथ दूसरे कमरे में किराए पर रहता लोकसेवा गैस एजेंसी का कर्मचारी संदीप गैस एजेंसी से ग्राहकों को सप्लाई करने के लिए लाए सिलेंडरों में से अवैध तरीके से गैस निकालकर दूसरे सिलेंडर में भर रहा था। इसी बीच चूल्हे से निकली ¨चगारी से गैस सिलेंडर में आग लग गई और आग घर में फैल गई। आग की चपेट में आकर उनकी पत्नी सोनिया, उनका पांच साल का बच्चा अनिकेत, जीजा सुखदेव महतो और गैस एजेंसी का का¨रदा संदीप बुरी तरह झुलस गए। आग की चपेट में आकर घर में रखे कपड़े भी जल गए।

उमेश ने बताया कि उनके साथ के दूसरे कमरे में रहता लोकसेवा गैस एजेंसी का का¨रदा संदीप क्वार्टर के करीब ही स्थित गैस गोदाम से सिलेंडर लाकर रोजाना ग्राहकों को सिलेंडर सप्लाई करने से पहले कमरे में सुबह सुबह गैरकानूनी तरीके से सिलेंडरों से गैस निकालता था। पड़ोसियों ने फोन कर 108 एंबुलेंस मंगवाई

इलाके में ही थोड़ी दूर रहने वाले संतोष कुमार ने बताया कि चीख पुकार सुनकर जब वो घटनास्थल पर पहुंचे तो चार लोग आग से झुलसे पड़े तड़प रहे थे। उन्होंने 108 एंबुलेंस को सूचित किया। एंबुलेंस के पहुंचने पर चारों को सिविल अस्पताल पहुंचाया गया। सोनिया और गैस एजेंसी के कर्मचारी संदीप की गंभीर हालत को देखते हुए दोनों को इमरजेंसी वार्ड में दाखिल किया गया। जबकि जीजा सुखदेव महतो और बच्चे अनिकेत को सर्जिकल वार्ड मे दाखिल करवाया गया है। सिलेंडर फट जाता तो जा सकती थी 13 लोगों की जान

गनीमत रही कि सिलेंडर को आग लगने के बाद सिलेंडर फटा नहीं, नहीं तो जान माल का बड़ा नुकसान हो सकता था। हादसे में झुलसी सोनिया के पति उमेश महतो ने बताया कि जिस वक्त सिलेंडर में आग लगी, उस वक्त क्वार्टर में उनके परिवार के सदस्यों के समेत कुल 13 लोग उपस्थित थे। अगर सिलेंडर फट जाता तो बड़ा जान माल का नुक्सान हो सकता था। गैस एजेंसी के का¨रदे के खिलाफ केस दर्ज

थाना भार्गव कैंप के एएसआइ सतनाम ¨सह ने बताया कि गैस एजेंसी के कारिंदे संदीप के खिलाफ धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है। संदीप ने आग लगने के बाद मामले को दबाने के लिए थोड़ी दूर ही स्थित गैस गोदाम में दोनों सिलेंडर रख दिए थे। पुलिस ने दोनों सिलेंडर बरामद कर लिए हैं।

Posted By: Jagran