कोदर, जेएनएन। कोरोना वैक्सीन से डरें नहीं, यह सुरक्षित है। अपनी व अपनों की सुरक्षा के लिए आगे आकर वैक्सीन लगवाएं, ताकि भविष्य में कोरोना को पूरी तरह से खत्म किया जा सके। यह बात शनिवार को सिविल अस्पताल नकोदर में कोरोना वैक्सीन का पहला टीका लगवाने के बाद एसएमओ डा. भूपिंदर कौर ने कही।

नकोदर के सिविल अस्पताल में सुबह 11.30 बजे टीकाकरण की शुरुआत की गई। पहला टीका लगवाने का उद्देश्य लोगों में वैक्सीन के प्रति फैली भ्रांतियों को दूर करना था। टीका लगवाने के बाद उन्हें कोई परेशानी नहीं हुई। उन्होंने हेल्थ वर्करों व लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया।

उन्होंने कहा कि 59 सेहत कर्मियों व स्टाफ को शाम पांच बजे तक टीके लगाए गए। इस मौके पर नायब तहसीलदार राजिंदर कुमार, डा. साहिब सिंह, डा. संजीव कुमार, डा. हरप्रीत सिंह, डा. जसबीर सिंह, फार्मासिस्ट परमजीत सिंह, राजिंदर सिंह, एएनएम सुरजीत कौर, सरबजीत कौर, दीपक शर्मा व स्टाफ सदस्य मौजूद थे।

वैक्सीन लगवाने के बाद डाक्टरों ने देखे मरीज
जालंधर में कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद भी डाक्टर मरीज को देखते रहे। डा. तरसेम लाल तथा डा. भूपिंदर सिंह ने बताया कि उन्होंने वैक्सीन लगवाने के बाद आधा घंटा वेटिंग हाल में इंतजार किया। इसके बाद वह अपनी ओपीडी में आ गए, जहां उन्होंने 140 मरीजों की जांच कर उन्हें दवाइयां दी।

लैब टेक्नीशियन को हुई हल्की कंपकंपी
जालंधर में वैक्सीन लगवाने के बाद वेटिंग हाल में बैठे लैब टेक्नीशियन नरिंदर कुमार को हल्की कंपकंपी हुई। उन्होंने स्टाफ को सूचित किया। डाक्टरों की टीम ने उनकी गहन जांच पड़ताल की और दवा दी। बाद में वह ठीक होकर अपनी ड्यूटी पर लौट गए। उधर, सिविल सर्जन डा. बलवंत सिंह का कहना है कि किसी भी व्यक्ति को वैक्सीन लगने से तबीयत खराब होने की सूचना नहीं मिली है।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021