जालंधर, जेएनएन। कोरोना ने शनिवार को शहर के पाश इलाके में प्रवेश कर लिया है। लाजपत नगर से एक व्यक्ति को कोरोना की पुष्टि हुई है। जिले में मरीजों की संख्या 222 तक पहुंच गई है। उधर, सेहत विभाग की टीम ने छह लोगों को घर में आइसोलेशन के लिए भेज दिया। लाजपत नगर इलाके से सक्रीनिंग करवाने के लिए आए 55 साल के पुरुष के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे थे। शनिवार उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव मिली। शहर में पहली बार पॉश कालोनी से कोरोना का मरीज पाजिटिव आया है।

मरीज प्राइवेट अस्पताल में इलाज करवाने का इच्छुक

मरीज सरकारी अस्पताल की बजाय निजी अस्पताल में इलाज का इच्छुक है। सेहत विभाग के नोडल अफसर डॉ. टीपी सिंह का कहना है कि 140 सैंपलों की रिपोर्ट शनिवार को मिली। इनमें से लाजपत नगर के रहने वाले 55 साल के एक व्यक्ति को कोरोना की पुष्टि हुई है। मरीज ने सरकारी की बजाय निजी अस्पताल में इलाज करवाने की बात कही है। उन्होंने बताया कि शनिवार को जिले में 144 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। 368 लोगों के सेंपल की रिपोर्ट आना बाकी है।

आज लातपत नगर में घर-घर सर्वे, सैंपल लिए जाएंगे

रविवार को टीमें लाजपत नगर में जाकर घर-घर सर्वे कर मरीज के संपर्क में आने वालों को सैंपल लेगी। उधर, शुक्रवार को शहर से पॉजिटिव मिले मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों के सैंपल लेने के लिए सेहत विभाग ने सर्वे शुरू कर दिया है। उधर, सिविल अस्पताल से छह मरीजों को छुट्टी देकर घर में आइसोलेट होने के लिए भेजा गया है। जिले में घर जाने वाले मरीजों की संख्या 199 तक पहुंच गई है। कोरोना से सात मरीजों की मौत हो चुकी है।

पंजाब में कोविड -19 मामलों के बढऩे की दर राष्ट्रीय औसत से कम : कैप्टन

जालंधर, जेएनएन। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि राज्य सरकार के कड़े प्रबंधों के फलस्वरूप कोविड-19 महामारी के मामलों को एकदम बढऩे से रोका जा सका और पंजाब में देश के मुकाबले मामले बढऩे की दर बहुत कम है। फेसबुक लाइव प्रोग्राम 'आस्क कैप्टन' में शनिवार को जालंधर निवासी के सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन ने कहा कि देश में कोरोना महामारी के मामलों के दोगुने होने की दर 14 दिनों की है जबकि पंजाब में यह दर 86 दिन की है। उन्होंने कहा कि देश और राज्य में कोविड-19 के मामलों में इतना बड़ा फर्क राज्य सरकार की तरफ से किए गए कड़े प्रबंधों के फलस्वरूप संभव हो सका है। उन्होंने कहा कि 86 दिनों का समय बहुत लम्बा समय है, जो स्पष्ट करता है कि राज्य सरकार इस महामारी को पूरी सामथ्र्य से नियंत्रण करने में सफल रही है। मुख्यमंत्री ने लोगों का जीवन और स्वास्थ्य उनकी सबसे बड़ी और पहली प्राथमिकता बताते हुए कहा कि राज्य सरकार पंजाब में रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य का ख्याल रखने के लिए पूरी तरह वचनबद्ध है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!