जागरण संवाददाता, जालंधर

पंजाब रोडवेज पनबस एवं पेप्सू रोड ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन (पीआरटीसी) के समस्त कांट्रैक्ट कर्मचारियों को प्रत्येक माह पांच तारीख से पहले वेतन अदायगी कर दी जाएगी। पंजाब रोडवेज, पनबस एवं पीआरटीसी कांट्रैक्ट वर्कर्स यूनियन की शुक्रवार को सचिव विकास गर्ग एवं निदेशक राज्य परिवहन अमनदीप कौर के साथ हुई बैठक के दौरान उक्त आश्वासन दिया गया है। यूनियन का प्रतिनिधिमंडल राज्य अध्यक्ष रेशम सिंह गिल की अगुआई में बैठक के लिए चंडीगढ़ पहुंचा था।

रेशम सिंह गिल ने बताया कि बैठक के दौरान अधिकारियों की तरफ से आश्वासन दिया गया है कि मोगा डिपो का ड्यूटी रोस्टर वापस मोगा डिपो में ही बनेगा तथा चंडीगढ़ डिपो के फारिग किए गए कर्मचारियों को ड्यूटी पर दोबारा बहाल कर दिया जाएगा। इसके अलावा कोरोना काल में ड्यूटी के दौरान अपनी जान गवा चुके कर्मचारियों के स्वजनों को 50 लाख रुपये की सहायता राशि एवं हादसे अथवा किसी अन्य कारण के चलते मौत होने की सूरत में मिलने वाले एक लाख के बीमे संबंधी फाइलों को तुरंत हल करने के लिए कहा जाएगा। उन कर्मचारियों को तुरंत बहाल किया जाएगा, जिनकी जांच उनके हक में हो चुकी है। डाटा एंट्री आपरेटर एवं एडवांस बुकर को 2500 रुपये के साथ 30 प्रतिशत बढ़ोतरी देने संबंधी सचिव राज्य परिवहन ने कहा कि इसे एजेंडा बनाकर विचार किया जाएगा। कच्चे मुलाजिमों को पक्का करने के लिए पालिसी बनाने अथवा सर्विस रूल लागू करने एवं नई आउटसोर्स भर्ती को रद करने संबंधी सचिव ने कहा कि यह सरकार के स्तर का फैसला है। इस संबंध में यूनियन की अति शीघ्र मुख्यमंत्री के साथ बैठक कराई जाएगी। रेशम सिंह ने कहा कि 24 मई को पंजाब के सारे बस स्टैंड बंद करने का कार्यक्रम मुल्तवी कर दिया गया है। वहीं 28 एवं 29 मई को विधायकों को ज्ञापन सौंपने का कार्यक्रम तथा 8, 9 एवं 10 जून की हड़ताल का फैसला मुख्यमंत्री के साथ बैठक तक मुल्तवी रखा गया है। इस बैठक में यूनियन के महासचिव शमशेर सिंह ढिल्लो, वरिष्ठ उप प्रधान बलजीत सिंह, उपप्रधान गुरप्रीत सिंह पन्नू व कुलवंत सिंह, कोषाध्यक्ष बलजिदर सिंह व जसवीर सिंह ढिल्लों मौजूद थे।

Edited By: Jagran