जेएनएन, जालंधर। अदालत के आदेशों पर महितपुर के स्वास्थ्य केंद्र में तैनात रहे डॉ. कंवलजीत सिंह की अदायगी होने के बाद जांच को लेकर सेहत विभाग की नींद टूटी है। अदालत में केस हारने के बाद सेहत विभाग पानी में लाठी मारने का प्रयास कर रहा है। सेहत विभाग ने जिन जिम्मेदार अधिकारियों की सूची डायरेक्टर को भेजी है उन में से दो अधिकारी मर चुके हैं और एक विदेश में बैठा है। सेहत विभाग ने 30 अक्टूबर तक कंवलजीत ¨सह के मामले में जिम्मेदार अधिकारियों और मुलाजिमों की सूची मांगी थी।

तालमेल कमेटी के चेयरमैन हरजिंदर सिंह अनेजा और सुभाष मट्टू ने बताया कि डॉ. कंवलजीत सिंह का केस जारी होने के समय पर सिविल सर्जन रहे डॉ. सुदर्शन गोयल व डीलिंग सहायक परमजीत सिंह की रिटायरमेंट के बाद मौत हो चुकी है। इसके अलावा सुपरिंटेंडेंट जगत राम सेवानिवृति के बाद विदेश जा चुके है। इनके नाम सूची में हैं, जो सिविल सर्जन ऑफिस की ओर से स्वास्थ्य विभाग के डायरेक्टर को भेजी जा चुकी है। इसके बावजूद विभाग ने वेतन जारी नही किया। बुधवार को भी सिविल सर्जन दफ्तर के स्टाफ ने रोष प्रदर्शन किया। इधर, सिविल सर्जन डॉ. गुरिंदर कौर चावला ने बताया कि विभाग के पत्राचार जारी है। जल्द ही समस्या का समाधान संभव है।

लोकसभा चुनाव से पहले दिए सिविल सर्जन ऑफिस की नीलामी के आदेश

सिविल सर्जन आफिस में तैनात डॉक्टरों व स्टाफ ने कहा कि डॉ. कंवलजीत सिंह ने छुट्टी पर जाने के बाद उनकी सेवाएं खत्म करने के मामले को लेकर विभाग पर केस किया था। अदालत ने उसे पूरे क्लेम किए वेतन तथा ब्याज के करीब 85 लाख रुपये की अदायगी का आदेश दिया। सेहत विभाग के ढीले रवैये को देखते हुए लोकसभा चुनाव से पहले अदालत ने सिविल सर्जन ऑफिस की नीलामी के भी आदेश दिए। इसके बाद विभाग के अधिकारियों ने चुनाव आचार संहिता लागू होने के कारण लोकसभा चुनाव के बाद डॉ. कंवलजीत सिंह का भुगतान कर दिया था।

इसके बाद सेहत विभाग के अधिकारियों ने सिविल सर्जन ऑफिस में तैनात अधिकारियों व स्टाफ का वेतन रोक दिया है और डॉ. कंवलजीत सिंह के केस के समय जो स्टाफ व अधिकारी तैनात थे, उनका ब्यौरा मांगा। साथ ही लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों व मुलाजिमों की सूची मांगी थी। यह सूची भेजी जा चुकी है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!