जागरण संवाददाता, जालंधर : एसजीपीसी के प्रधान किरपाल सिंह बडूंगर के बयान कि खालिस्तान की मांग करने में कुछ भी गलत नहीं है, पर शिरोमणि अकाली दल के प्रवक्ता ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। प्रवक्ता पूर्व मंत्री डॉ. दलजीत सिंह ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल कभी भी खालिस्तान के हक में नहीं रहा। हमारा स्टैंड इस बारे में पूरी तरह साफ है।

चीमा ने कहा कि न ही अकाली दल, न ही शिरोमणि कमेटी और न ही बडूंगर खालिस्तान के हक में हैं। उन्होंने कहा कि बडूंगर ने खालिस्तान के हक में बयान थोड़े दिया है। वह तो जब उनसे खालिस्तान की मांग और नारे लगाने को लेकर एक पत्रकार ने सवाल किया तो उनका कहना था कि ऐसा करना न ही संवैधानिक और न ही कानूनी तौर पर अपराध है क्योंकि इस बारे में चंडीगढ़ के दो युवकों के नारे लगाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ऐसा फैसला दे चुका है। बडूंगर ने तो सुप्रीम कोर्ट के उस फैसले का हवाला ही दिया है जिसके तहत सुप्रीम कोर्ट का निर्णय था कि केवल नारे लगाना देशद्रोह नहीं हो सकता जब तक कि साथ में हिंसा न हो। बडूंगर तो अमेरिका के होबोकेन सिटी के नए बने मेयर रविंदर सिंह भल्ला को कुछ रेसिस्ट लोगों की ओर से आतंकवादी कहने से जुड़े सवाल का जवाब दे रहे थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!