पूजा ¨सह, जालंधर पंजाब स्कूल एजुकेशन बोर्ड की परीक्षाएं 28 फरवरी से शुरू हो रही हैं। इस बार परीक्षा में नकल को रोकने के लिए जहां पहले शिक्षा विभाग द्वारा सेल्फ सेंटर न बनाने, लोकल स्टाफ की ड्यूटी न लगाने व ऑब्जर्वर को अन्य जिलो के सेंटर में ड्यूटी लगाने के लिए निर्देश जारी किए गए थे। इसी के तहत बोर्ड द्वारा अब सभी परीक्षा केद्रो में सीसीटीवी कैमरे लगवाने की भी चर्चा है। राज्यभर के 2800 परीक्षा केद्रो में सीसीटीवी लगाने के लिए बोर्ड ने टेंडर मंगवा लिए है। हालांकि पहले बोर्ड ने निर्देश थे कि केवल उन्ही परीक्षा केद्रो में कैमरे लगाए जाएंगे, जहां पर नकल के केस ज्यादा होते हैं। लेकिन चूंकि अब सेल्फ सेंटर नही बनाए जाएंगे तो ये फैसला नही कर सकते कि कौन सा सेंटर संवेदनशील है। चूंकि अब एक स्कूल के बच्चे अपने ही स्कूल में परीक्षा नही दे पाएंगे, उनका सेंटर बदला जाएगा। इसलिए दसवी व बारहवी बोर्ड परीक्षा केद्रो की लिस्ट आने के बाद ही सीसीटीवी कैमरे लगने का प्रोसेस शुरू होगा। हर केद्र में कम से कम दस सीसीटीवी लगेंगे, यानी कि अगर विभाग द्वारा सभी परीक्षा केद्रा में सीसीटीवी लगाए जाते हैं तो राज्यभर के परीक्षा केद्रों में करीब 28 हजार सीसीटीवी लगाए जाएंगे। डीईओ से मंगवाई जाएगी संवेदनशील केद्रो की सूची पंजाब स्कूल एजुकेशन बोर्ड के पीआरओ कोमल ¨सह ने बताया कि विभाग द्वारा परीक्षा केद्रों की लिस्ट बनाई जा रही है। बारहवी की फाइनल हो चुकी है जबकि दसवी क्लास की फाइनल लिस्ट बनने में एक दो दिन का समय लग जाएगा। सभी जिलों के डीईओ को लिस्ट भेजने के बाद उनमें से संवेदनशील सेंटर की लिस्ट मंगवाई जाएगी। इसके बाद बोर्ड की ओर से उन सेंटरों में सीसीटीवी इंस्टॉल किया जाएगा। दरअसल पहले तो उन्ही सेंटर में सीसीटीवी लगाने की योजना थी जहां पर नकल केस ज्यादा है लेकिन चूंकि अब सेल्फ सेंटर नही बनेंगे तो ये कह पाना मुश्किल है कौन सा सेंटर संवेदनशील है।