जालंधर [अंकित शर्मा]। सीबीएसई की तरफ से उन विद्यार्थियों के लिए गोल्डन चांस दिया है, जो पांच सालों के भीतर अभी तक 12वीं की परीक्षाएं पास नहीं कर पाए हैं। यानी कि जो विद्यार्थी 2016 से 2020 के बीच 12वीं में फेल हुए। यही नहीं जिन विद्यार्थियों की कंपार्टमेंट आई थी, मगर अंक कम आने के बावजूद परीक्षा क्लियर नहीं कर पाए थे। वे आज से यानी कि दो दिसंबर से फार्म भर सकते हैं। इसके लिए 20 दिसंबर अंतिम तिथि है। बशर्त यह है कि उन सभी विद्यार्थियों को प्राइवेट तौर पर परीक्षा में बैठना होगा। अर्थात यह है कि वे रेगुलर तौर पर परीक्षार्थी नहीं गिने जाएंगे।

इन विद्यार्थियों को 2022 में होने वाली परीक्षा में बैठने का अवसर दिया जा रहा है। विद्यार्थियों को इस बात का ध्यान रखना होगा कि उनके लिए सिलेबस टर्म-2 का रहेगा। वहीं परीक्षा फार्म केवल आनलाइन मोड के जरिये ही भरा जाएगा और विद्यार्थियों को उसी हिसाब से रोल नंबर जारी किए जाएंगे। यही नहीं फीस का भुगतान करने के बाद ही उन्हें परीक्षा संबंधी कार्रवाई को मौका नहीं मिलेगा।

प्रेक्टिकल में विद्यार्थी फेल हैं तो भी थ्यूरी की परीक्षा देनी होगी

अगर विद्यार्थी थ्यूरी की परीक्षा में पास हो चुके हैं और प्रेक्टिकल की परीक्षा में फेल हो चुके हैं। उन विद्यार्थियों को थ्यूरी और प्रेक्टिकल की दोनों परीक्षाओं को देनी ही होगा। इस संबंध में सीबीएसई की तरफ से नोटिफिकेशन जारी कर दिया है और प्रिंसिपलों को भी इस संबंध में हिदायत दी हैं कि वे ऐसे विद्यार्थियों तक संदेश पहुंचाएं और उन्हें अपनी शिक्षा योग्यता बढ़ाने के लिए दिए गए इस सुनहरी अवसर संबंधी बताएं। ताकि विद्यार्थी इस गोल्डन डांस के लाभ उठा सकें।

Edited By: Vinay Kumar