जालंधर [अंकित शर्मा]। लंबे इंतजार के बाद आखिरकार सीबीएसई ने हाईकोर्ट के निर्देशों पर 31 जुलाई से एक दिन पहले 12वीं का नतीजा जारी कर दिया। बोर्ड ने दोपहर करीब सवा दो बजे नतीजा जारी किया लेकिन शाम साढ़े पांच बजे तक तीन बार साइट क्रैश हुई। उस कारण रिजल्ट देखने में अभिभावक और विद्यार्थियों को परेशानी भी हुई। वे अपने स्कूल व शिक्षकों को फोन घुमाते रहे। बाद में साइट खुली तो विद्यार्थी नतीजा देख खासे उत्साहित दिखे क्योंकि अधिकतर छात्रों के अंक 90 से 95 फीसद तक आए थे। बिना पेपर हुए ऐसे नतीजों की उम्मीद विद्यार्थियों को भी नहीं थी।

जालंधर से करीब 30 स्कूलों से 8006 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। सभी पास हुए। किसी की भी कंपार्टमेंट नहीं आई। छह विद्यार्थियों के परिणाम 99 फीसद से अधिक आए। स्कूल प्रबंधकों का कहना है कि इस बार 90 से ज्यादा अंक पाने वाले विद्यार्थियों की संख्या पिछले सालों के मुकाबले ज्यादा है। हालांकि सीबीएसई ने मेरिट लिस्ट जारी नहीं की जिस कारण ऐसे बच्चों की संख्या कितनी है, यह पता नहीं चल पाएगा।

उधर, विद्यार्थियों ने भी नतीजों पर संतुष्ट जाहिर की। दस स्कूलों से हुए दो हजार विद्यार्थियों के सर्वे के अनुसार विद्यार्थी अपने नतीजे से संतुष्ट हैं और वे लिखित में परीक्षा देने का आप्शन नहीं चुन रहे। एमजीएन स्कूल अर्बन एस्टेट की अक्षिता बांसल व एपीजी की स्कूल महावीर मार्ग की आलिया जुनेजा ने जिले में ओवरआल टापर का खिताब पाया। अब तक के नतीजों के अनुसार छह बच्चों के नंबर 99 फीसद से अधिक है। बच्चों का कहना है कि मेहनत का फल अवश्य मिलता है। पिछले सालों में की मेहनत का रिजल्ट इस बार कोरोना काल में मिला।

ये रहे टापर : नान मेडिकल में एमजीएन की अक्षिता बांसल ने 99.2 फीसद अंक पाए। पुलिस डीएवी स्कूल के ओम गुप्ता ने 99 व डीपीएस की सौम्या गुप्ता के 98.6 फीसद अंक रहे। मेडिकल स्ट्रीम में पुलिस डीएवी की आस्था, डीपीएस की जेसिका ने 98.4} के साथ पहला, एपीजे के रिशिक गोयल ने 98.2} अंकों से दूसरा, एमजीएन अर्बन एस्टेट की जेसिका के 98 फीसद अंक रहे। कामर्स में एपीजे महावीर मार्ग की आलिया जुनेजा ने 99.2} लेकर पहला, इनोसेंट की पारिका, एमजीएन के अजय स्वरूप, एमजीएन रजनीश विरदी ने 99 अंक पाए।

Edited By: Vinay Kumar