जेएनएन, जालंधर। निगम चुनाव को लेकर कांग्रेस ने कमर कस ली है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह वीरवार को जालंधर पहुंचे। सीएम बनने के बाद कैप्टन पहली बार जालंधर पहुंचे। उन्होंने कहा कि वह यहां पहले आना चाहते थे, लेकिन राज्य के आर्थिक हालात ठीक नहीं थे। राज्य की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने में उन्हें सात महीने लग गए। पिछली अकाली-भाजपा सरकार राज्य पर  2 लाख 8 हजार करोड़ का कर्ज छोड़कर गई है।

कांग्रेस सरकार को सत्ता में आए सात महीने हो चुके हैं, अब तक ड्रग माफिया के आरोपों का सामना कर रहे पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया को गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया। इस पर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि केंद्रीय एजेंसियां जांच कर रही हैं, मजीठिया ही क्यों, जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

पत्रकारों से बातचीत में कैप्टन ने कहा कि ड्रग माफिया मामले की जांच चार केंद्रीय एजेंसियां कर रही है, इन जांच एसेंसियों की रिपोर्ट आने के बाद ही ड्रग माफिया में फंसे लोगों पर कार्रवाई होगी, इसमें मजीठिया ही नहीं, और भी कई लोग हैं। सत्ता में आने पर आपने वादा किया था कि अकालियों का बस माफिया खत्म करके नाजायज चल रही बसों को नहीं चलने दिया जाएगा और रोजगार देने के लिए आम लोगों को परमिट दिए जाएंगे। अब भी सरेआम प्रकाश सिंह बादल परिवार और अन्य अकाली नेताओं की बसें चल रही हैं। इस पर सीएम ने कहा कि जल्द ही ट्रांसपोर्ट पॉलिसी जारी होने वाली है, सरकार क्या करने जा रही है, आपके सामने आ जाएगा।

कैप्टन से पूछा गया कि कांग्रेसी विधायक भी पूर्व अकाली विधायकों की तरह ही अकाली नेताओं और वर्करों पर धक्केशाही से पर्चे करा रहे हैं, क्या यह बदले की भावना नहीं है। इस पर कैप्टन ने कहा कि ऐसा कुछ नहीं है, अकाली बिना कारण प्रचार कर रहे हैं। पंजाब स्टेट रेगुलेटरी कमीशन की ओर से बिजली दरें बढ़ाने और अब सरकार की ओर से पालतू जानवारों पर टैक्स लगाने से जनता में रोष है, ऐसा किया जाना जरूरी था क्या। कैप्टन बोले, इस पर तो मुझे भी रोष है, इस बात को वे हंसी मजाक में ही खत्म कर गए। 

बड़े शहरों को पीने के पानी के लिए एक हजार करोड़ का प्रोजेक्ट

इससे पूर्व नगर निगम चुनावों की तैयारियों पर चर्चा करते हुए कांग्रेसी विधायकों, नेताओं और पदाधिकारियों और वर्करों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा सरकार ने अमृतसर, जालंधर, लुधियाना, पटियाला और बठिंडा जैसे बड़े शहरों को साफ पीने का पानी देने के लिए एक हजार करोड़ की योजना पर काम शुरू कर दिया है।

नए मकानों और कॉलोनियों के लिए वन टाइम सेटलमेंट स्कीम

सीएम ने कहा कि नए बनने वाले मकानों और कॉलोनियों को अब तरह-तरह के यूजर चार्जेस के बजाय वन टाइम सेटलमेंट स्कीम में लाया जाएगा। इससे समय और परेशानी से बचा जा सकेगा। इसके साथ ही सरकार ने तीन लाख रुपये की सालाना आय वाले परिवारों को मुफ्त में घर देने और पांच लाख रुपये की आय तक के परिवारों को सब्सिडी पर घर देने की योजना पर भी काम शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़ेंः 800 स्कूलों को बंद करने का मामला हाई कोर्ट पहुंचा, पंजाब सरकार को नोटिस

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!