जागरण संवाददाता, जालंधर : नगर निगम और सरदार अजीत सिंह फाउंडेशन ने नेशनल अर्बन लाइवलीहुड मिशन के तहत लड़कियों को रोजगार उपलब्ध करवाने की मुहिम शुरू की है। सरदार अजीत सिंह फाउंडेशन की हरियां चिड़ियां मुहिम के तहत जरूरतमंद लड़कियों को घर पर ही काम उपलब्ध करवाया जा रहा है। इसके तहत लड़कियों को पुराने कपड़ों से थैले, मास्क, पर्स, गद्दियां और अन्य सामान बनाने के लिए प्रेरित किया गया है। मंगलवार को मेयर जगदीश राज राजा और नगर निगम कमिश्नर करनेश शर्मा ने अजीत सिंह फाउंडेशन की प्रधान और प्रोजेक्ट डायरेक्टर रमनप्रीत कौर की इस मुहिम को हरी झंडी दी। मेयर जगदीश राजा ने कहा कि यह मुहिम कोरोना संक्रमण काल में जरूरतमंदों को रोजगार उपलब्ध करवाने की अनूठी पहल है और इसमें सभी को अपना सहयोग देना चाहिए। प्रोजेक्ट डायरेक्टर रमनप्रीत कौर ने बताया कि इस मुहिम में 10 लड़कियों को जोड़ा गया है और एक साल के अंदर यह गिनती 100 और दो साल में 500 की गिनती तक पहुंचने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि घरों में पुराने कपड़ों को इस्तेमाल करके कई प्रोडक्ट बनाए जा सकते हैं और इन्हें अच्छी कीमत पर बेचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट में और भी कई प्रोडक्ट जोड़े जाएंगे ताकि अधिक से अधिक महिलाओं को रोजगार मिल सके। उन्होंने इस प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाने में मार्गदर्शन के लिए ज्वाइंट कमिश्नर अमित सरीन का भी आभार जताया। उन्होंने कहा कि यह मुहिम पर्यावरण संरक्षण के लिए भी काम करेगी। पुराने कपड़े से थैले बनाने से प्लास्टिक का इस्तेमाल भी कम होगा।

Edited By: Jagran