जागरण संवाददाता जालंधरः अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री साधु सिंह धरमसोत ने कहा बादल परिवार का अमृतसर में श्री अकाल तख्त साहिब में गुनाहों की माफी मांगना एक एक सियासी ड्रामा है। इसे उन्हें तत्काल बंद कर देना चाहिए।

साधु सिंह धरमसोत रविवार को अनुसूचित जाति पिछड़ा वर्ग मंत्रालय के सलाहकार यशपाल धीमान के निवास पर पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बादल परिवार के गुनाह सार्वजनिक हो चुके हैं। यह बात खुद बादल साहब भी जानते हैं और कल जिस प्रकार से उन्होंने गुनाह की माफी मांगी है उसने यह साबित कर दिया है कि उन्होंने गुनाह किया है। अगर वह गुनाहों की माफी सही तरह से मांगना चाहते हैं तो राजनीति से संन्यास ले लें। यही उनके गुनाहों की माफी का सही तरीका हो सकता है। महज 1 दिन गुनाहों की माफी मांग कर फिर राजनीति के दंगल में फिर वही गुनाह करने की अगर सोच रखते हैं उनका सिर्फ सियासी ड्रामा से ज्यादा कुछ भी नहीं है।

मंत्री साधु सिंह धरमसोत ने कहा पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप मामले में ऑडिट अंतिम स्थिति में पहुंच चुका है। जो भी शिक्षण संस्थाओं के खिलाफ ₹50 लाख से ज्यादा के गबन के मामले में सामने आएंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई। जिनका गवन 50 लाख से कम होगा उनसे रिकवरी की जाएगी। ड्रॉपआउट केस में सरकार जल्द ही फैसला लेगी ताकि किसी कॉलेज के साथ अन्याय ना होने पाए। जिस कॉलेज में जिस स्टूडेंट को जो परीक्षा दिलाई है उस समय तक का वजीफा स्टूडेंट्स के खाते में जाएगा लेकिन अगर परीक्षा नहीं दी है तो छात्र को वजीफा नहीं मिलेगा। हालांकि इस संबंध में भी अंतिम फैसला जल्द गठित होने वाली कमेटी लेगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Pankaj Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!