जालंधर। यहां के बीटेके के एक छात्र ने चेन्नई स्थित एएमईटी यूनिवर्सिटी में खुदकुशी कर ली। 21 साल का जगतारणजीत सिंह ने शनिवार रात होस्टल के कमरे में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। छात्र के परिवार का आरोप है कि यूनिवर्सिटी का डीन उसे प्रताडि़त कर रहा था। चेन्नई पुलिस ने डीन के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें : जालंधर से अगवा महिला व बच्चे काे रोहतक से छुड़ाया

जालंधर के माडल टाउन निवासी नारायणजीत सिंह अाईएनजी वेश्य बैंक में रीजनल मैनेजर हैं। उनके दो बेटे थे। बड़ा जगतारणजीत सिंह अौर छोटा संतनदीप सिंह। जगतारणजीत सिंह इंजीनयरिंग करने के लिए चेन्नई चला गया। वहां वह एएमईटी यूनिवर्सिटी में बीटेक की पढ़ाई कर रहा था।

भाई संतनदीप सिंह ने बताया कि वहां वह पार्ट टाइम में नौकरी करना चाह रहा था, लेकिन डीन इसकी इजाजत नहीं दे रहा था। जबकि कई अन्य छात्रों को डीन ने इसकी इजाजत दे रखी थी। वह उसे प्रताडि़त करता रहता था। इस से तंग आकर उसने ख्ुादकुशी कर ली। परिवार के लो उसका शव लेने चेन्नई रवाना हो गए हैं।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!