जेएनएन/एएनआइ, तरनतारन। भारत-पाक अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर तैनात बीएसएफ ने चौकी शाहपुर के पास सीमा पार करके भारत में दाखिल हुए 17 साल के नाबालिग लड़के को काबू करने के बाद पूछताछ करके वापस पाक भेज दिया है। जिला अमृतसर की अजनाला तहसील में आते गांव शाहपुर स्थित बीएसएफ की ओर से रात को पाक की ओर से सीमा पर हरकत देखी जिसके बाद जवानों ने भारतीय इलाके में दाखिल हुए एक व्यक्ति को देखा। उसे तुरंत काबू करके पूछताछ की गई। पूछताछ में उसकी पहचान इमरान अहमद (17) पुत्र सुल्तान अहमद गांव कमोकी (नारोवाल) पाक के तौर पर हुई। बीएसएफ की ओर से जांच में पाया गया कि इमरान अहमद से कोई आपत्तिजनक वस्तु नहीं है और वो गलती से भारतीय इलाके में दाखिल हो गया था। जिसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों के ध्यान में मामला लाया गया। बाद में इमरान अहमद को पाक सीमा पर तैनात रेंजर के हवाले कर दिया गया। इमरान अहमद ने भारत सरकार और बीएसएफ का धन्यवाद किया है।

यह भी पढ़ें- सरहद पार हुआ पत्‍नी को प्‍यार तो भारतीय पति ने लाहौर में प्रेमी से कराई शादी, जानें 'मूक प्यार' की अनोखी दास्‍तां

यह भी पढ़ें- बीएसएफ ने गांव धनोआ में लगाया जागरूकता कैंप

बीएसएफ की ओर से सरकारी स्कूल में जागरूकता कैंप लगाया गया।

तरनतारन भारत पाक सीमा पर तैनात बीएसएफ की 22 वी बटालियन की और से गांव धनोआ कलां के सरकारी एलिमेंट्री स्कूल में जागरूकता कैंप लगाया। कैंप में विद्यार्थियों को स्पोर्ट्स, कापिया किताबें, पेंसिल के अलावा अन्य सामान वितरण किया गया। मेडिकल कैंप दौरान मरीजों की जांच करके मुफ्त दवाइयां मुहैया कराई गई। नौजवानों को खेलों से जुड़कर देश की सेवा करने का संदेश दिया गया। इस मौके बलदेव सिंह, दिलबाग सिंह, हरपाल सिंह, मेहर सिंह ने बीएसएफ का धन्यावाद किया।

यह भी पढ़ें-  अमृतसर में पिस्तौल दिखा पंप से पेट्रोल डलवा सात हजार लूटे, बराड़ गांव से आरोपित की कार बरामद

Edited By: Vinay Kumar