जागरण संवाददाता, तरनतारन। विस्फोटक सामग्री व आतंकियों की गिरफ्तारी के कारण हाई अलर्ट पर चल रहे पंजाब में शनिवार को बड़ी वारदात सामने आई। तरनतारन के जंडियाला रोड स्थित एचडीएफसी बैंक में घुसे दो लुटेरों ने महज डेढ़ मिनट में 50 लाख लूटकर  बाइक पर सवार होकर फरार हो गए। लूट की वारदात के बाद शहर में दहशत का माहौल पैदा हो गया। हाईअलर्ट के चलते शहर में की गई नाकाबंदी भी पुलिस के काम नहीं आई।

एचडीएफसी बैंक में दोपहर के समय ग्राहकों की काफी भीड़ थी। बाइक पर सवार होकर आए दो लुटेरों ने बैंक में दाखिल होते ही पिस्टल निकाल लिए। एक ने पुलिस कांस्टेबल की वर्दी वाली शर्ट पहन रखी रखी थी जबकि दूसरे लुटेरे ने खाकी पगड़ी पहनी हुई थी। महज डेढ़ मिनट में उन्होंने बैंक के स्टाफ और ग्राहकों को गन प्वाइंट पर लेकर 50 लाख की राशि समेटी और बैग में डालकर बाइक पर फरार हो गए।

तरनतारन में एचडीएफसी बैंक में लूटकांड के बाद जांच करते हुए एसपी विशालजीत सिंह, डीएसपी तरसेम मसीह, बलजिंदर सिंह।

बता दें कि बैंक में सुरक्षा के तौर पर एक गार्ड तैनात था परंतु उसके पास कोई हथियार नहीं था। बैंक के मैनेजर के पास एक रिवाल्वर था। कहा जाता है कि ये रिवाल्वर मैनेजर ने अपनी गाड़ी में ही रखा हुआ था। लूट की वारदात का पता चलते ही शहर में दहशत का माहौल पैदा हो गया। मौके पर थाना सिटी के अतिरिक्त प्रभारी बलजीत कौर सबसे पहले पहुंची और उच्च अधिकारियों को सूचित किया। पुलिस ने पूरे शहर की नाकाबंदी करवाई, परंतु लुटेरों का कोई सुराग नहीं लग पाया।

पुलिस ने बैंक में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगालने शुरू किए

सूत्रों की मानें तो लूट की वारदात को अंजाम देने के बाद दोनों लुटेरे जंडियाला रोड रेलवे फाटक के पास तंग गली में दाखिल हुए। मौके पर पुलिस ने बैंक के भीतर व बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि लुटेरों ने पहले बैंक के आसपास रेकी की थी। एसएसपी हरविंदर सिंह विर्क, एसपी विशालजीत सिंह, डीएसपी तरसेम मसीह, बरजिंदर सिंह के अलावा साइबर क्राइम सेल और फोरेंसिक टीम ने मौके पर जांच शुरू कर दी है। 

Edited By: Pankaj Dwivedi