जागरण संवाददाता, जालंधर : नाबालिग के अपहरण के मामले में फंसे भाजपा नेता शीतल अंगुराल ने बुधवार को पुलिस जांच में शामिल होकर अपनी बेगुनाही के सबूत पेश किए। शीतल ने थाना पांच में अपने ऊपर लगे आरोपों के गलत बताते हुए कुछ अहम सीसीटीवी फुटेज दी। साथ ही पुलिस को कहा कि एफआइआर में शिकायतकर्ता द्वारा जिस दिन का जिक्र है, उस दिन की जालंधर-मुकेरियां रोड पर स्थित टोल प्लाजा की सीसीटीवी फुटेज खंगाली जाए। उन्होंने कहा कि शिकायतकर्ता ने कहा कि वे अपने साथियों के साथ अपहरण करके उसे 11 मार्च को मुकेरियां ले गए थे, जबकि वे 11 मार्च को जालंधर से बाहर कहीं गए ही नहीं थे।

बता दें कि थाना पांच की पुलिस ने 14 मई को उक्त भाजपा नेता व उसके भाई राजन अग्रवाल सहित इनके चार साथी जोली, जिन्नी, दीपा व चिराग के खिलाफ अपहरण, मारपीट, झूठा सबूत पेश करने के लिए धमकाना, अपराध के लिए उकसाना सहित जुविनाइल जस्टिस एक्ट व पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया। इस मामले में आरोपितों कोर्ट से अग्रिम जमानत पर चल रहे थे, जिस के बाद बुधवार को वह पुलिस जांच में शामिल हुए। तीन ग्राम हेरोइन समेत युवक काबू, लाहन भी बरामद

संवाद सूत्र, शाहकोट : एसआइ सुरिदर कुमार ने बताया कि तलवंडी संघेडा के चौकी इंचार्ज एसआइ भूपिंदर सिंह ने इलाके के टी-प्वाइंट से जसवीर सिंह उर्फ जस्सू को काबू कर तीन ग्राम हेरोइन बरामद की। एक अन्य मामले में एएसआई रछपाल सिंह ने गांव रामपुर में दरिया सतलुज के किनारे रेड की। इस दौरान अवैध शराब बनाने की तैयारी कर रहे दो व्यक्ति फरार हो गए। पुलिस ने मौके से 2300 लीटर लाहन, 100 बोतल अवैध शराब , दो ड्रम, चार पतीले, दो ट्यूब, चार तिरपाल और भट्ठी का सामान बरामद किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!