जासं, जालंधर : पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में सोमवार को कांग्रेस के भारत बंद का शहर में आंशिक असर रहा। सुबह 10.30 बजे पंजाब प्रदेश कांग्रेस प्रधान और सांसद सुनील जाखड़ के नेतृत्व में जिला प्रधान दलजीत ¨सह आहलुवालिया, सांसद संतोख ¨सह चौधरी, विधायक रा¨जदर बेरी, विधायक परगट ¨सह और मेयर जगदीश राजा, पंजाब प्रदेश महिला कांग्रेस की पूर्व प्रधान किट्टू ग्रेवाल और वर्करों ने कंपनी बाग चौक से रोष मार्च निकाला और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान कांग्रेसियों ने दुकानें भी बंद करवाई। हालांकि बंद का असर 12 बजे तक ही दिखा। जैसे-जैसे मार्च आगे निकलता गया, दुकानों के शटर खुलते रहे। मार्च ज्योति चौक, रैनक बाजार, फगवाड़ा गेट से होते हुए वापस 12 बजे कंपनी बाग पर समाप्त हुआ।

---------------

विधायक बावा हैनरी, रिंकू और सुरिंदर सिंह नहीं हुए मार्च में शामिल

नॉर्थ से विधायक बावा हैनरी, वेस्ट से विधायक सुशील कुमार ¨रकू, करतारपुर से विधायक चौधरी सुरिंदर ¨सह, सीनियर डिप्टी मेयर सु¨रदर कौर, डिप्टी मेयर हरसिमरन ¨सह बंटी रोष मार्च में शामिल नहीं हुए।

---------------

मोदी सरकार की गलत नीतियों से बढ़ रही तेल की कीमतें: जाखड़

रोष मार्च के बाद पत्रकारों से बातचीत में जाखड़ ने कहा कि मोदी सरकार की गलत आर्थिक नीतियों का खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है। इसी कारण आज पेट्रोल की कीमत 83 रुपये और डीजल की कीमत 73 रुपये से ऊपर पहुंच गई है। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 86 रुपये से ऊपर है। जाखड़ ने कहा कि अगर देश को महंगाई की मार से बचाना है तो मोदी सरकार को चलता करना होगा। उन्होंने कहा कि 16 सितंबर, 2014 को जब कांग्रेस ने सरकार छोड़ी थी, उस समय अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें 107 डॉलर थी और डीजल का रेट 55.49 रुपये प्रति लीटर था। आज कच्चे तेल की कीमत 73 डॉलर है और डीजल का रेट 73 रुपये से ज्यादा है। जाखड़ ने कहा कि मोदी सरकार ने सत्ता में आने के बाद चार साल में अब तक 12 बार एक्साइज ड्यूटी में बदलाव किया है। ऐसा करके सरकार ने देश की जनता का 1300 करोड़ रुपया इकट्ठा कर लिया है। तेल की कीमत से पूरा देश त्रस्त है लेकिन केंद्र सरकार चुप बैठी है।

--------------------------

प्रधानमंत्री किसी की राय नहीं लेते, अब जनता जवाब देगी

जाखड़ ने कहा कि पीएम मोदी अपने किसी साथी, मंत्री या सीनियर नेता की किसी भी मामले में राय नहीं लेते। न किसी मंत्री या नेता में हिम्मत है कि उनको राय दे सके। अब पीएम मोदी तैयार रहे, क्योंकि आगामी लोकसभा चुनाव में देश की जनता उनको राय दे देगी। चुनाव के आसपास हो सकता है कि मोदी सरकार कुछ राहत देने की घोषणा कर दे, लेकिन जनता अब समझ चुकी है, बहकावे नहीं आएगी।

----------------------------

जाखड़ के आने की जानकरी देर से मिली, इसलिए नहीं आ सका: हैनरी

नॉर्थ से विधायक बावा हैनरी ने मार्च में गैरमौजूदगी पर कहा कि उनको जिला कांग्रेस की ओर से प्रदेश अध्यक्ष के आने की समय पर जानकारी नहीं दी गई थी। जब तक जानकारी मिली, तब तक काफी समय हो चुका है। हैनरी ने कहा कि वे अपने हलके में वर्करों के साथ रोष प्रदर्शन कर रहे थे, ऐसे में वहां से निकल पाना संभव नहीं था। विधायक सुशील ¨रकू से इस संबंध में संपर्क नहीं हो सका। कांग्रेस काफी पार्षद रोष मार्च में शामिल हुए, लेकिन विधायक सुशील ¨रकू की पत्नी पार्षद सुनीता ¨रकू नहीं दिखीं।

-------------------

Posted By: Jagran