जागरण संवाददाता, जालंधर : पीएनबी और इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के बीच फंसे लोन के मामले को सुलझाने के लिए सरकार ने आर्थिक मदद की हामी भर दी है। मंगलवार को चंडीगढ़ में इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के चेयरमैन की लोकल बॉडीज के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी के साथ हुई बैठक में बैंक प्रबंधन को वन टाइम सेटलमेंट का ऑफर देने पर सहमति बन गई। इसके अलावा यह भी तय हुआ कि प्रॉपर्टी की नीलामी से भी फंड जुटाया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक बैंक प्रबंधन और ट्रस्ट प्रशासन में इस बात पर पहले ही सहमति बन चुकी है कि ट्रस्ट की जो प्रॉपर्टी नीलाम हो जाएगी बैंक प्रबंधन उसकी एनओसी दे देगा। नीलामी से मिला पैसा बैंक को ही दे दिया जाएगा। गौरतलब है कि बैंक द्वारा ट्रस्ट की करीब 577 करोड़ रुपये की प्रापर्टी पर साकेतिक कब्जा लिया गया है। माना जा रहा है कि सरकार स्तर पर तय इस फार्मूले पर अमल होने से इंप्रूवमेंट ट्रस्ट को बड़ी राहत मिलेगी। पीएनबी के बकाया 105 करोड़ रुपये के कर्ज की अदायगी को लेकर मंगलवार को एडिशनल चीफ सेक्त्रेटरी से हुई बैठक के संबंध में जानकारी देते हुए ट्रस्ट के चेयरमैन दीपर्वा लाकड़ा ने बताया कि पीएनबी के साथ वन टाइम सेटलमेंट स्कीम पर बात होगी। इसकी शर्ते बैंक व ट्रस्ट के अधिकारी आपसी तालमेल से तय करेंगे। निर्धरित किया जाएगा कि कितनी रकम, किस अंतराल या किश्त या फिर इसकी एकमुश्त अदायगी की जाएगी। दूसरी ओर यह भी तय किया जाएगा कि बैंक के पास गिरवी रखी जिस प्रापर्टी पर बैंक अब कब्जा ले चुका है, उसकी ट्रस्ट द्वारा नीलामी की जाएगी पर इसके लिए बैंक एनओसी देगा और उस प्रापर्टी की नीलामी की पूरी रकम बैंक के कर्ज के रूप में ही अदा की जाएगी। चेयरमैन दीपर्वा लाकड़ा ने बताया कि जल्द ही बैंक प्रबंधन के साथ बैठक कर रास्ता निकालेंगे।

Posted By: Jagran