जालंधर, जेएनएन। भारत-पाक सीमा पर संदिग्ध ड्रोन देखे जाने के बाद अब गणतंत्र दिवस समारोह की सुरक्षा के मद्देनजर शहर में भी ड्रोन के इस्तेमाल पर पाबंदी लगा दी गई है। वीरवार को डीसीपी (लॉ एंड ऑर्डर) बलकार सिंह ने धारा 144 के तहत रोक के आदेश जारी किए।

यह आदेश शुक्रवार से 26 जनवरी तक लागू रहेंगे। डीसीपी ने कहा कि इंटेलिजेंस एजेंसी से इनपुट मिला है कि गणतंत्र दिवस पर शहर का अमन-कानून भंग करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसलिए यह आदेश जारी किए गए हैं। इस दौरान विवाह और अन्य सामाजिक-धार्मिक कार्यक्रमों में ड्रोन इस्तेमाल करने पर भी पाबंदी रहेगी। 

सितंबर के महीने में लगातार पांच से छह रातों तक ड्रोन देखे गए

गाैरतलब है कि सितंबर के महीने में लगातार पांच से छह रातों तक ड्रोन देखे गए थे। उस वक्त भी शाम 7:00 बजे से लेकर रात 10:30 बजे के बीच ड्रोन देखे जाने की बात सामने आई थी। बीएसएफ के अधिकारियों ने अभी तक ड्रोन देखे जाने की बात से इन्‍कार नहीं किया था।

बीएसएफ के अधिकारियों का कहना था कि ड्रोन जैसा देखा गया था, जिसके चलते उन्होंने सतर्कता दिखाते हुए देर रात से लेकर सुबह तक सर्च अभियान चलाए, लेकिन तब भी कोई ड्रोन या ऐसा यंत्र बीएसएफ के हाथ नहीं लगा था। जालंधर में जिला प्रशासन का फैसला इसी के मददेनजर लिया गया है। इसके अलावा शहर में गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा कड़ी रहेगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Vipin Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!