जालंधर, जेएनएन। रविवार को एससी बीसी अध्यापक यूनियन पंजाब का डेलीगेट देश भगत यादगार हाल में इकट्ठा हुआ। इसमें संस्थापक नेता मलागर सिंह की अध्यक्षता में 15 जिलों के प्रधान और डेलीगेट सदस्यों ने भाग लिया। इस दौरान सबकी सहमति से वरिष्ठ अध्यापक बलकार सिंह सफरी को प्रदेश प्रधान बनाया। इसके बाद प्रदेश स्तरीय कमेटी का गठन किया गया। कमेटी में राम किशन पल्ली को महासचिव, मलागर सिंह को चेयरमैन, करनराज सिंह गिल को सरपरस्त, बचित्तर सिंह को चीफ आर्गेनाइजर, जोगिंदर सिंह को लीगल एडवाइजर की जिम्मेदारी दी गई।

इसके अलावा सूबा कमेटी का विस्तार करते हुए हरबंस लाल, शीतल सिंह, सुरजीत को वरिष्ठ उपप्रधान, गुरजंट सिंह, सेवक सिंह, सविंदर सिंह, सुरिंदर सिंह, दर्शन सिंह को उपप्रधान, विपन कुमार, हरबिलास, सुखदेव सिंह, सतपाल को महासचिव, बलविंदर सिंह, मलकीत सिंह को वित्त सचिव, हरजीत सिंह, नछत्तर सिंह, सतनाम सिंह, सुनील कुमार को सचिव, सुखविंदर सिंह, बलबीर सिंह, तजिंदर सिंह को प्रेस सचिव और स्वर्नजीत सिंह को तकनीकि सलाहकार नियुक्त किया गया है। इस दौरान सदस्यों ने लंबे समय से चली आ रही मांगों को लागू करवाने के लिए कड़ा संघर्ष करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों के सदस्यों के साथ तालमेल करके सभी को एकजुट किया जाएगा।

नवनियुक्त प्रदेश चेयरमैन मलागर सिंह ने कहा कि नई चुनी गई सूबा कमेटी बाबा साहब डा. भीमराव आंबेडकर की विचारधारा पर पहरा देते हुए दलित मुलाजिमों, अध्यापकों और विद्यार्थियों के हक के लिए संघर्षशील रहेगी। नवनियुक्त प्रधान बलकार सिंह सफरी ने डेलीगेट में शामिल सदस्यों को अपनी-अपनी जिम्मेदारी तनदेही के साथ निभाने के लिए प्रेरित किया।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस