जालंधर, जेएनएन। 'कोई तो चेन खींचो.. कोई तो ट्रेन रोको..।' सिटी रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर एक पर भाग रहा एक युवक यही चिल्लाता हुआ यह बात दोहरा रहा था। यह घटना दोपहर करीब साढ़े 12 बजे तेजस शताब्दी एक्सप्रेस के जालंधर स्टेशन से रवाना होते समय की है। दिल्ली से आ रही तेजस शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन जब सिटी स्टेशन रुकी तो उसमें से एक युवक चिप्स का पैकेट लेने के लिए उतर गया। यह ट्रेन अमृतसर के लिए रवाना होने लगी तो युवक भागकर इसमें चढ़ने लगा, लेकिन तब तक इसके ऑटोमैटिक दरवाजे बंद हो गए। ऐसे में वह बाहर ही रह गया। हालांकि अंदर बैठे उसके साथियों ने चेन खींची और ट्रेन रुकी। इसके बाद वह गार्ड के कोच में जाकर बैठा।

यह इस तरह का पहला मामला नहीं कि तेजस शताब्दी एक्सप्रेस के ऑटोमेटिक दरवाजे बंद होने से यात्री को परेशानी झेलनी पड़ी है। अकसर कई जगह से इस तरह के मामले सामने आते रहे हैं। कुछ माह पहले भी जालंधर रेलवे स्टेशन पर दरवाजे बंद होने से एक्सप्रेस के बाहर रह गया था, जबकि उसके छोटे बच्चे ट्रेन के अंदर ही थे। दरवाजे बंद हाेने के बाद ट्रेन स्टेशन से चल पड़ी थी। रेलवे अधिकारियों की मदद से ट्रेन को रोककर यात्री को ट्रेन में चढ़ाया गया था।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!