जागरण टीम, जालंधर : आरएसएस पंजाब के प्रांत सह संघ चालक ब्रिगेडियर जगदीश गगनेजा पर गोलिया चलाने वाले दोनों शूटर्स फगवाड़ा से शहर में घुसे थे। यह खुलासा सीसीटीवी फुटेज की जांच में हुआ है। इस बीच पुलिस ने हमलावरों को पकड़ाने वालों को कांस्टेबल की नौकरी व 10 लाख रुपये के इनाम का एलान कर दिया है। पुलिस ने 8725001100 वॉट्सएप नंबर जारी किया है। शनिवार को अज्ञात हमलावरों ने जालंधर की रेडक्रॉस मार्केट में गगनेजा को गोलियों से छलनी कर दिया था। यहां 16 घंटे इलाज के बाद उन्हें लुधियाना डीएमसी अस्पताल रेफर किया गया था। वहीं, तीसरे दिन भी पुलिस हमलावरों तक नहीं पहुंच पाई।

पढ़ें : पंजाब के आरएसएस सह संघ संचालक पर हमला, अस्पताल में भर्ती

लगातार वेंटिलेटर पर

गगनेजा का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने बताया कि अगले 72 घंटे काफी क्रिटिकल हैं। डीएमसी हीरो हार्ट इंस्टीट्यूट के चीफ कोर्डियोलॉजिस्ट डॉ. जीएस वांडर ने कहा कि गगनेजा की हालत में सुधार नहीं हो रहा है। वह लगातार वेंटिलेटर पर हैं।

बादल बोले, हमले के पीछे विदेशी साजिश

मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल व उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल सोमवार को आरएसएस नेता जगदीश गगनेजा का हाल जानने लुधियाना स्थित डीएमसी हीरो हार्ट अस्पताल पहुंचे। दोनों ने सोमवार को पहले गगनेजा के परिवार और फिर डॉक्टरों से बात की। मीडिया से बातचीत में सीएम बादल ने कहा कि यह सब विदेशी एजेंसियों की साजिश है। चुनाव से पहले अमन-शांति व हालात खराब करने की कोशिश की जा रही है।

परिवार मांग करे, तो कराएंगे सीबीआइ जांच

बादल ने कहा,'मुझे न तो परिवार ने और न ही संघ ने सीबीआइ जांच की बात कही है। अगर वे कहते हैं तो वैसा ही किया जाएगा। कुछ पार्टियां राजनीतिक रोटियां सेंक रही हैं। दुख की घड़ी में सबको परिवार के साथ खड़ा होना चाहिए।Ó

गिरफ्तारी के लिए बनीं 10 टीमें: सुखबीर

सुखबीर ने कहा कि लॉ एंड ऑर्डर से खिलवाड़ करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। जांच के लिए एडीजीपी कम डायरेक्टर सहोता की अगुआई में 10 टीमें गठित की गई हैं। उन्होंने डीजीपी सुरेश अरोड़ा से कहा कि वह केस पर खुद भी नजर रखें।

हमले से पहले की थी घर की रेकी

संघ नेता जगदीश गगनेजा पर हमले की जांच में जुटी पुलिस ने पूरे शहर के सीसीटीवी की फुटेज खंगाली। शहर के एंट्री प्वाइंट्स में शूटर सबसे पहले देखे गए। फिर कैंट में जगदीश गगनेजा के घर के पास रेकी करते हुए देख गए। वहीं वारदात के बाद की फुटेज में अंतिम बार दिखे। तीनों ही फुटेज में शूटर एक ही वेशभूषा में देखे गए।

शनिवार रात की घटना के बाद रविवार को मार्केट बंद होने से पुलिस सीसीटीवी फुटेज नहीं निकलवा पाई थी। सोमवार को पुलिस ने ज्योति चौक, रेडक्रास मार्केट, स्काईलार्क चौक से लेकर गगनेजा के घर और कैंट समेत सभी मुख्य सड़कों के सीसीटीवी फुटेज देखे। फगवाड़ा रोड पर दोनों शूटर्स डिस्कवर बाइक पर शाम साढ़े पांच बजे के करीब देखे जाते हैं। इसके बाद दोनों शूटर कैंट में 6.57 बजे देखे जाते हैैं। अंत में वही शूटर रेडक्रास मार्केट में देखे गए।

पढ़ें : पंजाब आप में बड़ी खींचतान, भगवंत मान व छोटेपुर आमने-सामने

Posted By: Mahesh Joshi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!