जागरण संवाददाता, जालंधर : पिछले चार दशक से गोपाल नगर में परेशानी का सबब बन चुका कूड़े का डंप हटवा दिया गया है। इसके लिए स्वच्छ भारत मिशन की टीम ने सप्ताह भर लगातार इस जगह पर उपस्थित रहकर न केवल यहां पर कूड़ा फेंकने वालों को रोका बल्कि कूड़ा उठाना भी सुनिश्चित किया। डंप वाली जगह की सफाई करवाने के बाद भविष्य में लोगों को इस जगह पर कूड़ा न फेंकने का आह्वान करते हुए ऐसा करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी।

दरअसल, पटेल चौक स्थित साई दास स्कूल ग्राउंड के पास पिछले लंबे समय से कूड़े का विशाल डंप लगा हुआ था। यहां पर दो से तीन वार्डो का कूड़ा फेंका जा रहा था। यही कारण रहा कि समय के साथ कूड़े का ढेर गोपाल नगर में प्रवेश करते रास्ते में भी बाधा बन रहा था। आरटीआइ एक्टिविस्ट संजय सहगल द्वारा आवाज बुलंद किए जाने के बाद निगम ने यहां पर कूड़े का डंप हटाकर ग्रीन बेल्ट बना दी। इसके बाद से साई दास स्कूल के पीछे वाली गली में कूड़ा फेंका जाने लगा। वर्कशाप चौक से लेकर पटेल चौक पर लगने वाली खानपान की रेहड़ियों के संचालक इस जगह पर रोजाना भारी मात्रा में कूड़ा फेंक रहे हैं। इस पर कंट्रोल करने के लिए स्वच्छ भारत मिशन टीम ने कमान अपने हाथ में ली। टीम की प्रोग्राम कोआर्डिनेटर रमनप्रीत कौर ने इस जगह पर अपनी टीम के साथ करीब एक सप्ताह तक उपस्थिति दर्ज की। वह बताती हैं कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत प्रथम चरण में लोगों को सफाई को सुनिश्चित बनाने के साथ-साथ इधर-उधर कूड़ा न फेंकने का आह्वान किया जाता रहा। इसके दूसरे चरण में कूड़ा फेंकने वालों पर कानूनी प्रावधान के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान उनके साथ सेनेटरी इंस्पेक्टर सुनील गिल के अलावा इलाका निवासियों में राजा, टिकू अरोड़ा, हैप्पी व सदस्य मौजूद थे। लावारिस पशुओं के कारण भी बन गया था कूड़े का डंप

गोपाल नगर में लगने वाले कूड़े के ढेर पर लावारिस पशुओं की भरमार परेशानी को बढ़ा रही थी। यही कारण था कि मोहल्ले के अधिकतर लोग बच्चों व बुजुर्गो को घर से बाहर भेजने से कतरा रहे थे। वहीं, डंप उठने के बाद अब इस समस्या से भी निजात मिल जाएगी।

Edited By: Jagran