जागरण संवाददाता, जालंधर : शिरोमणि अकाली दल ने स्मार्ट सिटी कंपनी के फंड से हो रहे काम में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। मांग की है कि इसकी उच्चस्तरीय जांच करवाई जाए। नगर निगम कमिश्नर को ज्ञापन देने पहुंचे अकाली दल के नेताओं ने निगम कांप्लेक्स में प्रदर्शन किया और उसके बाद ज्वाइंट कमिश्नर अमित सरीन को ज्ञापन सौंपा। हालांकि इस दौरान अकाली नेताओं की मौजूदगी के बावजूद ज्वाइंट कमिश्नर के फोन पर व्यस्त रहने से कार्यकर्ता भड़क गए। मामला आगे नहीं बढ़ा और ज्वाइंट कमिश्नर ने अकाली नेताओं की पूरी बात सुनी। जिला अकाली दल के प्रधान कुलवंत सिंह मन्नण, पूर्व विधायक सरबजीत सिंह मक्कड़, पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष चंदन ग्रेवाल ने मांग की कि यह बात सार्वजनिक की जाए कि स्मार्ट सिटी कंपनी को कितना फंड मिला है और इस फंड से क्या-क्या काम हो रहे हैं। उन्होंने आशंका जताई कि स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट में बड़ी गड़बड़ी हो रही है और इसकी उच्च स्तरीय जांच से गड़बड़ी सामने आएगी। अकाली नेताओं ने स्मार्ट सिटी कंपनी को मिले फंड और सभी प्रोजेक्ट की तीन दिन में पूरी जानकारी मांगी है। ऐसा न करने पर नगर निगम कार्यालय में भूख हड़ताल की चेतावनी दी है।

रोष जताने वालों में मौके पर परमजीत सिंह रेरू, परमिदर कौर पन्नू, बलबीर सिंह बिट्टू, रणजीत सिंह राणा, दिलबाग हुसैन, कीमती भगत, गुरप्रीत सिंह रंधावा, सुरजीत सिंह नीला महल, रविद्र सिंह स्वीटी, जत्थेदार प्रीतम सिंह मिट्ठू बस्ती, कुलदीप सिंह लुबाना, भजन लाल चोपड़ा, सुभाष सोंधी, सुखमिदर सिंह राजपाल, गुरदीप सिंह रावी, अमरप्रीत सिंह मोंटी, मनिदर पाल सिंह गुंबर, सतिदर सिंह पीता, महेंद्र सिंह गेली, अवतार सिंह घुम्मन, बलवंत सिंह गिल, गुरबचन सिंह कथूरिया, जसवीर सिंह दकोहा, गुरजीत सिंह मरवाहा, मनजीत सिंह ट्रांसपोर्टर, सुखविदर कौर, सुनीता ज्योति, बालकिशन बाला, बलविदर सिंह, परमप्रीत सिंह विट्टी, रणजीत सिंह गोल्डी शामिल रहे। सीवरेज ओवरफ्लो का मुद्दा भी उठाया

अकाली दल ने गुरु गोबिद सिंह एवेन्यू-सूर्या एनक्लेव रोड पर सीवरेज ओवरफ्लो की समस्या कई साल से बनी रहने का मामला उठाया और कहा कि यह सार्वजनिक किया जाए कि यह समस्या क्यों है। अकाली नेताओं ने कहा कि लोगों की करोड़ों की प्रापर्टी इस समस्या के कारण बर्बाद हो रही है। गंदे पानी के कारण इलाके में बीमारियां फैल रही हैं और लोगों की आवाजाही भी प्रभावित है। हालात ये हैं कि कांग्रेस के पार्षदों को भी अपनी ही सरकार के खिलाफ धरने लगाने पड़ रहे हैं।

----

सजावट के नाम पर करोड़ों की लूट हुई

अकाली नेताओं ने कहा कि स्मार्ट सिटी कंपनी के फंड से शहर के कई फ्लाईओवर के नीचे ग्रीन एरिया विकसित किया जा रहा है। कई जगह सजावट के नाम पर करोड़ों रुपए की लूट हुई है। असलियत में इस जगह पर कोई भी विकास नजर नहीं आ रहा बल्कि फ्लाईओवर के नीचे अब जुआ खेलने के अड्डे बन चुके हैं। बरसाती सीवरेज डालने के काम में गड़बड़ी

अकाली नेताओं ने कहा कि प्रीत नगर सोढल रोड पर करीब 6.50 करोड़ रुपये से बरसाती सीवरेज डालने का काम चल रहा है। अकाली सरकार के समय यह काम इतना महंगा नहीं था लेकिन कांग्रेस सरकार बनने के बाद इसे बदला गया और अमाउंट भी बढ़ गई। अकाली नेताओं ने कहा कि लंबे समय से काम चल रहा है लेकिन अभी तक या पूरा नहीं हो पाया जिस कारण से लोगों को परेशानी हो रही है। इसी प्रोजेक्ट के तहत बनाई गई सोढल चौक प्रीत नगर रोड भी कई जगह से टूट चुकी है। सीवरेज के ढक्कन की सड़क से काफी नीचे हैं जिस कारण से लोग घटना का शिकार हो रहे हैं।

Edited By: Jagran