जालंधर [सुक्रांत]। शहर में जहां जिला प्रशासन, पुलिस विभाग, सामाजिक व धार्मिक संस्थाएं कोरोना वायरस से जंग लड़ रही हैं वहीं पर कुछ लोग ऐसे भी हैं जो कानून का मजाक बनाने में लगे हुए हैं। पठानकोट चौक के पास स्थित अग्रवाल सभा ने अपने सदस्यों के कर्फ्यू पास जारी कर दिए। इन पर अवधि भी कर्फ्यू जारी रहने तक की लिख दी। सभा द्वारा यह कार्ड दिए गए तो किसी ने अपने वाट्सएप स्टेटस पर कार्ड की फोटो डाल दी जो वायरल हो गई। सभा ने सोशल वर्कर लिखकर राशन और दवा सप्लाई के नाम पर कार्ड बांटे।

लक्ष्मीपुरा निवासी पीयूश मित्तल और वरिंदर गुप्ता के नाम पर जारी पास सोशल मीडिया पर वायरल हो गए। मामला पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत सिंह भुल्लर तक पहुंचा। उन्होंने इसकी जांच एडीसीपी सुडरविली को सौंपी। वहीं, सभा के प्रधान अविनाश सिंगला का कहना था कि पास पर कर्फ्यू ड्यूटी पास लिखा जाना प्रिंटिंग की गलती थी। कुछ लोगों ने पास लेते हुए फोटो लगाकर वाट्सएप पर डाल दी जो डिलीट करवाई गई है और पास वापस ले लिए गए हैं। पास वापस लेने से पहले ही फोटो वायरल हो गई, गलती से कर्फ्यू पास लिखा गया लेकिन उस पर कर्फ्यू जारी रहने तक की अवधि कैसे लिखी, इस सब के जवाब उनके पास नहीं थे।

नाका देख भागा तो दीवार से टकराया, मोटरसाइकिल टूटा, सिर फूटा

गांधी कैंप के पास पुलिस का नाका देखकर एक युवक ऐसा घबराया कि सड़क पर जा गिरा। उसकी मोटरसाइकिल तो टूटी ही, साथ ही सिर भी फूट गया। हुआ यूं कि एक युवक गांधी कैंप की तरफ से निकला तो वर्कशॉप चौक पर पुलिस का नाका ना देख कर सीधा चलने लगा। अचानक उसकी नजर पेड़ के नीचे बैठे पुलिस कर्मियों पर पड़ी तो उसने बाइक तेजी से दानामंडी की तरफ मोड़ ली जिससे थोड़ा आगे जाते ही बाइक स्लिप हो गई और युवक नीचे जा गिरा। पास ही स्थित एक घर के बाहर खड़े व्यक्ति ने उसे पानी पिलाया और घर भेजा।

बुजुर्ग उकताए...सैर को निकले पुलिस ने लौटाए

कामकाजी लोगों के साथ साथ अब घर पर टिककर बैठने वाले बुजुर्ग भी उकता गए हैं। वीरवार शाम को शक्ति नगर निवासी बुजुर्ग सैर के लिए कंपनी बाग को निकले तो ज्योति चौक के पास पुलिस कर्मियों ने उन्हें रोक लिया। एसीपी हरसिमरत सिंह ने समझाया कि यह कर्फ्यू डराने के लिए नहीं बल्कि लोगों की सुरक्षा के लिए है। इसके बाद बुजुर्ग लौट गए।

कर्फ्यू में भी मदद को निकली एनिमल हेल्पलाइन की जसप्रीत कौर

पुलिस, प्रशासन सहित तमाम धार्मिक और सामाजिक संस्थाएं लोगों की मदद को निकली हुई हैं। लेकिन एक महिला ऐसी भी थी जो एक पिल्ले के दुर्घटनाग्रस्त होने की बात सुन कर्फ्यू में मदद को बाहर निकली। एनिमल हेल्पलाइन की सदस्य जसप्रीत कौर को सूचना मिली कि गोपाल नगर में एक पिल्ले को वाहन टक्कर मारकर निकल गया है और वो सड़क पर खून से लथपथ तड़प रहा है। जसप्रीत बिना कर्फ्यू पास के भी बाहर निकली और तुरंत मौके पर पहुंची लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी और पिल्ला दम तोड़ चुका था।

शहर में शुरू हुई शादियां, पुलिस को खबर नहीं

कर्फ्यू के दौरान ही शहर में शादियां भी शुरू हो गई हैं लेकिन पुलिस को पता नहीं चला। प्रीत नगर, संगत सिंह नगर सहित शाहकोट में शादी समारोह आयोजित हुए और धार्मिक स्थानों पर फेरे भी हुए। सूचना मिलने पर पुलिस धार्मिक स्थानों पर पहुंची लेकिन तब तक शादी करने वाले वहां से निकल चुके थे और पुलिस बैरंग लौट आइ।

बेवजह घूमने पर इन पर दर्ज हुए मामले

थाना 5 : बस्ती गुजां निवासी विष्णु, बस्ती शेख निवासी बंटी

थाना 6 : गुरु नानक नगर निवासी अमनदीप सिंह, आबादपुर निवासी संदीप कुमार, घास मंडी निवासी वरिंदर कुमार

थाना कैंट : धन्नोवाली निवासी मनोज कुमार, प्रदीप कुमार। 

 

Posted By: Pankaj Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!