जालंधर, जेएनएन। जिला बार एसोसिएशन जालंधर भी दिल्ली के अधिवक्ताओं के समर्थन में उतर आई है। सोमवार को यहां अधिवक्ताओं ने कथित रूप से दिल्ली पुलिस की ओर से तीस हजारी कोर्ट में वकीलों पर किए गए हमले और फायरिंग के विरोध में विधिक कामकाज करने से मना कर दिया। इस मौके पर प्रदर्शन करते हुए अधिवक्ताओं ने कहा कि सरकार को दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करके जल्द से जल्द उचित कार्रवाई करनी चाहिए।

वकीलों ने कहा कि वे पुलिस के इस क्रूर हमले की निंदा करते हैं। यह कानून के खिलाफ है और बेहद असहनीय है। इस घड़ी में हम अपनी बिरादरी के साथ हैं। उनका कहना था कि जालंधर बार के सदस्य दिल्ली में वकीलों पर हुए हमले के विरोध में सोमवार को कामकाज नहीं करेंगे। विरोध प्रदर्शन के मौके पर एसोसिएशन के प्रधान एडवोकेट नरेंद्र सिंह, सचिव सुशील मेहता, आरके भल्ला, अमरिंदर सिंह थिंद, गुरमेल सिंह, अशोक परुथी, गुरनाम सिंह, निखिल शर्मा, विशाल वड़ैच, जीएस काहलों, बलविंदर लक्की, परमिंदर ढिल्लों व अन्य सदस्य मौजूद थे।

बता दें कि गत दिवस दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में पुलिस कर्मियों और वकीलों में भिड़ंत हो गई थी। इसे लेकर कई वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल थी। फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

 

 

 

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Pankaj Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!