जालंधर [मनुपाल शर्मा]। बीते कई वर्षों से भारी आर्थिक संकट से घिरे पंजाब के बस बॉडी फैब्रिकेटर्स को आखिरकार पनबस और पेप्सू रोड ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन (पीआरटीसी) अति शीघ्र राहत देने जा रही हैं। पनबस एवं पेप्सू रोड ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन (पीआरटीसी) के बेड़े में शामिल होने जा रही 842 नई बसों की बस बॉडी फेब्रिकेशन पंजाब के ही फैब्रिकेटर से करवाए जाने संबंधी प्रक्रिया अंतिम चरण में पहुंच गई है। पंजाब सरकार के परिवहन विभाग की तरफ से पनबस में 587 और पीआरटीसी के बेड़े में 255 नई बसें शामिल करने का फैसला लिया गया है। बीएस 6 मानको वाली नई बसों की चेसिज फाइनल कर ली गई हैं और अब बस मात्र फेब्रिकेशन का ही काम बाकी बचा हुआ है।

हालांकि पंजाब परिवहन विभाग के ही कुछ अधिकारी तकनीकी तर्क देकर नई बसों की फेब्रिकेशन पंजाब के बाहरी राज्यों में स्थित फैब्रिकेटर्स से करवाने की कोशिश में लगे हुए थे, लेकिन परिवहन मंत्री अमरिंदर सिंह राजा वडिंग की तरफ से बसों की फेब्रिकेशन संबंधी प्रक्रिया को तुरंत निपटाने के निर्देश प्राप्त होने के बाद अब पंजाब के ही बस बाडी फैब्रिकेटर्स को काम देने की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

गत वर्षों में पंजाब परिवहन विभाग के फेब्रिकेशन से संबंधित टेंडर में कुछ ऐसी शर्तें रख दी गई थी, जिसे स्थानीय फैब्रिकेटर टेंडर की शर्तों की वजह से ही क्वालीफाई नहीं कर पाए थे। इसका नतीजा यह निकला था कि सरकारी बसों की फेब्रिकेशन का काम उन्हें नहीं मिल पाया। पंजाब सरकार की तरफ से अपनी सरकारी बसों की फेब्रिकेशन राजस्थान और हरियाणा में करवाई गई। लॉकडाउन के दौरान पंजाब के फैब्रिकेटर्स तालाबंदी की कगार पर पहुंच गए थे वजह यह थी कि नई बसों की खरीद नहीं हो रही थी इसके अलावा रिपेयर तक का काम भी नहीं आ रहा था।

यह भी पढ़ें-  शिअद प्रधान सुखबीर बादल आज जालंधर के दौरे पर, धार्मिक स्थलों पर मत्था टेक कई नेताओं से करेंगे मुलाकात

Edited By: Vinay Kumar