संवाद सहयोगी, जालंधर : डिप्टी कमिश्नर, जालंधर घनश्याम थोरी ने बताया कि आयुष्मान भारत सरबत स्वास्थ्य बीमा योजना जिले के लोगों के लिए बहुत लाभदायक साबित हो रही है। इस योजना अधीन दो साल में जालंधर के 4288 लाभार्थियों ने नेटल केयर (नवजात की देखभाल) और स्त्री रोग के उपचार के अंतर्गत 8.15 करोड़ के इलाज का लाभ लिया है। डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि इस योजना के पहले साल दौरान 511 रजिस्टर्ड लाभार्थियों ने नेटल केयर देखभाल के अंतर्गत 2,87,22 500 रुपये और 2092 लाभार्थियों ने प्रसूति और स्त्री रोगों के उपचार के अंतर्गत 1,81,83475 रुपये के इलाज का लाभ लिया। दूसरे साल के दौरान 760 लाभार्थियों ने नवजात की देखभाल के अंतर्गत 2,60,40200 रुपये और 925 लाभार्थियों ने स्त्री रोग उपचार के अंतर्गत 86,41400 रुपये के इलाज का लाभ लिया। उन्होंने आगे बताया कि सरकार ने दो साल में इलाज पर कुल 8,15,87575 रुपये खर्च किए।

जिला प्रशासन की तरफ से इस योजना के अंतर्गत अधिक से अधिक आबादी को कवर करने के लिए जिलों के स्वास्थ्य संस्थानों, कामन सर्विस सेंटरों (सीएससी) और सेवा केंद्रों में ई -हैल्थ कार्ड बनाने के अलावा अलग -अलग स्थानों पर रोजाना के 50 कैंप विशेष तौर पर लगाकर औसतन 4500 के करीब ई -हेल्थ कार्ड हर रो•ा बनाऐ जा रहे हैं। अब तक बड़ी संख्या में परिवार इस योजना का लाभ ले चुके हैं।

उन्होंने लोगों से अपील की कि वह इस योजना के अंतर्गत अधिक से अधिक रजिस्ट्रेशन को यकीनी बनाएं। जिससे वह इस योजना अधीन 5 लाख रुपये तक का कैशलेस हेल्थ कवर प्राप्त कर सकें।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021