जालंधर [सुनील प्रभाकर]। सीटी इंस्टीट्यूट से पकड़े गए तीनों कश्मीरी छात्रों के सोशल मीडिया अकाउंट को खंगालने पर पुलिस को आपत्तिजनक जेहादी सामग्री मिली है। इसके बाद पुलिस के साइबर सेल ने तीनों की फ्रेंड लिस्ट में शामिल लोगों को तीनों की पोस्टों पर लाइक व कमेंट करने वाले जालंधर में रह रहे लोगों के सोशल मीडिया अकाउंट भी खंगालने शुरू कर दिए हैं। कई कमेंट उर्दू व अरबी भाषा में हैं। इसे समझने के लिए साइबर सेल मोहाली मुख्यालय से संपर्क करके एक्सपर्ट की मदद ले रहा है।

साइबर सेल ने जेहादी नेटवर्क की जांच के लिए 4000 कश्मीरी विद्यार्थियों के सोशल अकाउंट को जांच के दायरे में लिया है। इनमें से 400 कश्मीरी विद्यार्थियों के सोशल अकाउंट में जेहादी सामग्री पाई गई है। जांच में पाया गया है कि सभी न केवल अंसार गजावत उल हिंद के लिए ही पंजाब और दुनियाभर में समर्थन और सहानुभूति नहीं जुटा रहे बल्कि लश्कर, हिजबुल, जमात उल दावा जैसे आतंकवादी संगठनों के लिए देश विदेश में रह रहे मुसलमानों से समर्थन मांगा जा रहा है। उनके हक में कैंपेन चलाई जा रही है। साइबर सेल की जांच में जालंधर से ऑपरेट हो रहे इन सोशल मीडिया अकाउंट के जेहादी नेटवर्क में खास कर पंजाब, हरियाणा, हिमाचल, यूपी के मुसलमानों को जोड़ा गया है।

साइबर सेल जालंधर में देरी से स्थापना भी है कारण

जालंधर में साइबर सेल की स्थापना अभी तीन माह पहले ही हुई है। इससे पहले साइबर सेल न होने का फायदा उठाकर आतंकियों ने जालंधर को जेहाद को प्रोमोट करने की गतिविधियां चलाने का गढ़ बना लिया।

मुस्लिम लड़कियों की फर्जी आईडी बनाकर भी कर रहे प्रचार

जांच में पाया गया है कि कश्मीरी छात्र मुस्लिम लड़कियों के नाम व तस्वीर से फेसबुक, इंस्टाग्राम जैसी सोशल साइट्स पर फर्जी आइडी बनाकर कश्मीरी आतंकी संगठन व आतंकियों के हक में प्रचार कर रहे हैं। इसके चलते सोशल मीडिया पर फर्जी हुस्न के जाल में फंसकर मुसलमान छात्र इनके जेहादी नेटवर्क के जाल में फंस कर आतंकियों के समर्थक बन रहे हैं।

साधा जा रहा है फेसबुक व गूगल मुख्यालय से संपर्क

जालंधर की साइबर सेल प्रभारी मोनिका का कहना है कि पता लगाया जा रहा है कि कश्मीरी विद्यार्थियों ने सोशल मीडिया अकाउंट  किस-किस जगह व राज्य में जाकर ऑपरेट किए हैं। लोकेशन ट्रेस करने के लिए फेसबुक व गूगल मुख्यालय से संपर्क साध रहे हैं। इंस्ट्राग्राम से भी संपर्क किया जा रहा है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt