संवाद सहयोगी, दातारपुर

भारतीय संस्कृति के युग पुरुष हैं स्वामी विवेकानंद। महान संत, महान योगी, महान राष्ट्रभक्त स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर भारत स्वाभिमान मंच द्वारा आयोजित समारोह में यह बात संजीव भारद्वाज ने कही।

उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति के महान प्रचारक महान व्याख्याता थे स्वामी जी। स्वामी विवेकानंद की जयंती पर उन्हें नमन करते हुए संजीव ने कहा कि स्वामी जी भारतीय संस्कृति के उच्चकोटि के प्रचारक, समाज सुधारक तथा सनातन संस्कृति के पुरोधा थे और भारतीय सभ्यता के प्रचारक थे। स्वामी जी ने भारत की कालजयी संस्कृति पर शिकागो और पूरे विश्व में भारतीय परंपराओं और आस्थाओं की जिस प्रकार व्याख्या की, उससे पूरा विश्व उनकी प्रतिभा का कायल हो गया। उन्होंने पूरे विश्व को भारतीय सभ्यता, संस्कृति को आदर से देखने व समझने पर विवश कर दिया। संजीव ने कहा स्वामी जी ने जिस प्रकार भारतीय संस्कृति को विश्व में ख्याति प्रदान की, उससे युवाओं को विशेषकर प्रेरणा लेनी चाहिए। उनके चरित्र को समझकर अपने चरित्र में आत्मसात करना चाहिए और उनसे प्रेरणा लेकर समाज व राष्ट्र निर्माण में अपनी भागीदारी यकीनी बनानी चाहिए।

इस अवसर पर भू¨पदर ¨सह, राजेश, रा¨जदर कुमार, प्रभात, करण ¨सह व राधेश्याम भी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!