संवाद सहयोगी, होशियारपुर : कृषि सुधार कानून को लेकर संयुक्त किसन मोर्चा की तरफ से यहां मिनी सचिवालय के बाहर रोष प्रदर्शन करके केंद्र सरकार का अर्थी फूंक प्रदर्शन किया वहीं जिले के अलग-अलग स्थानों पर अलग अलग किसान संगठन की तरफ से केंद्र सरकार का अर्थी फूंक कर केंद्र सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन करके नारेबाजी की। शनिवार सुबह संयुक्त किसान मोर्चा की तरफ से मास्टर हरकंवल सिंह की अध्यक्षता में शहीद भगत सिंह चौक से मिनी सचिवालय तक रोष मार्च किया। इस अवसर पर मास्टर हरकंवल सिंह ने रोष मार्च को संबोधित करते हुए केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि केंद्र सरकार पिछले एक वर्ष से बगैर गर्मी सर्दी की प्रवाह किए लगातार कृषि सुधार बिलों को वापिस करने के लिए संघर्ष कर रही है जिसको केंद्र सरकार किसी भी हालत में नाकामयाब करने पर तुली है। पिछले दिनों सिघु बार्डर पर केंद्र सरकार की तरफ से मोर्चे को बदनाम करने के लिए जो घिनौनी हरकत की है, वह किसी से भी छुपी नही है। इस अवसर पर मास्टर हरकंवल सिंह के साथ गुरमेश सिंह, ओम सिंह सटियाना, जगतार सिंह, गुरनाम सिंह, बिमला देवी, कमलजीत सिंह, गुरमीत सिंह, राम लाल, शीतल सिंह, खुशी राम, धर्म सिंह, हरभजन सिंह, रौशन लाल, दीपक सैनी, सुभाष चंद्र के साथ अन्य किसान शामिल थे।

शाम चौरासी में बीकेयू ने केंद्र सरकार का पुतला जलाया

इसी प्रकार शाम चौरासी में भी कृषि सुधार कानून को लेकर भारतीय किसान यूनियन और किसान संगठन की तरफ से संयुक्त रुप से होशियारपुर इकाई प्रधान गुरविदर सिंह खंडूड़ा की अध्यक्षता में केंद्र सरकार का अर्थी फूंक प्रदर्शन किया। इस अवसर पर केंद्र सरकार के खिलाफ जम कर नारेबाजी की और केंद्र सरकार का पिट स्पा किया।

इस अवसर पर अपने संबोधन में गुरविदर सिंह खंगूड़ा ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों के संघर्ष को नाकामयाब करने के लिए आए दिन नए नए हथकंडे अपना रही है मगर किसान संघर्ष उस समय तक जारी रहेगा जब तक केंद्र सरकार तीनों कृषि सुधार बिल वापिस नही ले लेती। इस अवसर पर गुर्जपाल सिंह के साथ नवप्रीत सिंह, गुरप्रीत सिंह, गोपी, मनदीप सिंह, जगदीश चंद्र, जसविदर सिंह, लखवीर सिंह, परमिदर सिंह, नरिदर सिंह, निर्मल सिंह, सोनी और कुलदीप सिंह के साथ अन्य लोग शामिल थे।

Edited By: Jagran