संवाद सहयोगी, होशियारपुर : सरकार के सड़कों को लेकर विकास के दावे जितने खोखले हैं सड़कें भी खोखलीं हैं और यह किस से छुपा नहीं है। सड़कों को बनाने के लिए प्रयोग किए जाने वाला मैटीरियल भी किसी से छुपा नहीं है। परंतु फिर भी न जाने क्यों हर मंच पर इन कमियों छुपाने के लिए हर मंच पर सरकार के नुमाइंदे बड़े बड़े दावे ठोक कर निकल जाते हैं और अपने दावों में यह भी कहते हैं कि सड़कों को बनाने के लिए पूरी गुणवत्ता को ध्यान में रखा जाएगा ताकि सड़कें टूटे नहीं। पर इन दावों की पोल अपने आप उस समय खुल गई जब सोमवार को एक स्कूल बस का टॉयर शिवजी चौक के पास सड़क में धंस गया और बस लगभग पलटने की कगार पर पहुंच गई। बस चालक व उसके सहायक कर्मचारी ने बड़ी कुशलता से बस की इमरजेंसी खिड़की खोलकर बच्चों को बस से निकाला। गनीमत यह रही की बस पलटी नहीं और बस में बड़ी क्लास के छात्र ही मौजूद थे जो समय रहते बस से उतर गए। यदि बस में बच्चे छोटे होते और कहीं बस पलट जाती तो गंभीर नतीजे सामने आने थे। बच्चों के बाहर निकलने के बाद मौके पर मौजूद लोगों ने राहत की सांस ली।

पिछले लंबे समय से हदबंदी को लेकर अटकी ऊना रोड से बहादुरपुर चौक तक की सड़क जो खस्ताहाल में हैं और लोगों की परेशानी का कारण है सोमवार को बड़े हादसे का कारण बनती बनती बची। हुआ दरअसल यूं कि सोमवार को सुबह हुई हलकी बरसात के कारण सड़क में पड़े गड्ढे पानी से भर गए। जब सुबह लिटिल फ्लावर स्कूल की बस बच्चों को लेकर सड़क से गुजरी तो बस का पिछला टॉयर गड्ढे में फंस गया। ड्राईवर ने अभी बस को गेयर तबदील करके निकालने के कोशिश की ही थी कि जैसे ही बस आगे बड़ी तो उसका टॉयर गड्ढे में धंसना शुरु हो गया और बस एक तरफ को झुक गई, बस जैसे ही एक तरफ को झुकी तो बच्चे घबरा गए और उन्होंने शोर मचाना शुरु कर दिया। इस दौरान ड्राईवर तुरंत बस से नीचे उतरा और उसने बस का इरमजेंसी द्वारा खोल दिया और बच्चों ने खिड़की से कूद कर अपनी जान बचाई। गनीमत यह रही कि बच्चे बड़े थे और वह समय रहते उतर गए यदि बस में छोटे बच्चे होते तो शहर में आज एक बड़ा हादसा हो जाता जिसका जवाब शहर के विकास के दावे करने वाले नेताओं के पास नहीं होता। मौके पर मौजूद लोगों ने जैसे तैसे बस को गड्ढे से बाहर निकाला जिसके बाद बच्चे स्कूल को रवाना हो गए। बस के शहर के बीचो बीच इस तरह धंसने की चर्चाओं का बाजार आज सारा दिन गरमाया रहा और लोग निगम व नेताओं को कौसते हुए नजर आते रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!