संवाद सहयोगी, होशियारपुर : पिछले 15 दिन से तालिबान की आग में जल रहे अफगानिस्तान का हाल बुरा है। वहां फंसे हरेक देश के नागरिक को सरकारें किसी न किसी हालत में निकाल कर अपने देश और उनके घर तक सुरक्षित पहुंचाने का प्रयास कर रही है। भारत के नागरिक जो अफगानिस्तान में फंसे है, को केंद्र सरकार की तरफ से विशेष जहाज के माध्यम से निकालने का प्रयास करते हुए दिल्ली एयरपोर्ट से उनके घरों तक सुरक्षित पहुंचाया गया है। जिला होशियारपुर के गांव हरियाना के गांव शहाबूदीन से कुछ समय पहले अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में काम करने गए कुलदीप सिंह के सुरक्षित घर वापस पहुंचने पर जहां पूरे गांव में खुशी का माहौल बना है वहीं अफगानिस्तान के हालत के बारे में सोच कर अब कुलदीप का दिल दहल जाता है। पत्रकारवार्ता में कुलदीप ने बताया कि वह यूएस एंबेसी में नौकरी करता था जो काबुल में ही स्थित है। काबुल अफगानिस्तान का बहुत ही सुरक्षित इलाका है। यही कारण है कि वहां पर अभी तक तालिबानियों को घुसने नहीं दिया जा रहा। इस समय वहां के हालात बद से भी बदतर बने हुए हैं। लोग न तो घरों में अपने आप को सुरक्षित महसूस कर रहे है और न ही बाहर कहीं जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों जहाज से जो यात्री गिरने की वीडियो विश्व भर में वायरल हुई थी वह काबुल की ही थी। इसमें साफ दिख रहा था कि लोग किस प्रकार मौत को गले लगाकर तालिबान से डरते हुए भाग रहे थे। उन्होंने कहा कि वह दिल से भारत सरकार के शुक्रगुजार है जिसने ऐसी हिसा से बचाते हुए अपने नागरिकों को सुरक्षित उनके घरों तक पहुंचाया है।

Edited By: Jagran