संवाद सहयोगी, गढ़शंकर

ब्लॉक गढ़शंकर के गांव मोहनोवाल और रावल¨पडी में लुटेरों ने हमला कर तीन लोगों को गंभीर रूप से घायल कर दिया और जाते हुए लुटेरे मोहनोवाल के किसान के घर से 60 हजार रुपये और सोने के गहने लूटकर फरार हो गए। घायल किसान द्वारा उठकर अपने पड़ोसियों को सूचना देने पर पड़ोसियों ने थाने जाकर पुलिस को सूचित किया। वहीं लुटेरों की उक्त हरकत को देखकर लोगों में दहशत है।

सिविल अस्पताल गढ़शंकर में उपचाराधीन जोगा ¨सह पुत्र जगता उम्र 65 साल निवासी मोहनोवाल ने बताया कि उसके दो बेटे हैं, जो विदेश में रहते हैं। एक बेटे की पत्नी अपने मायके गई हुई है। वह और उसकी पत्नी परमजीत कौर घर में अकेले थे। सोमवार रात लगभग 12.15 बजे उनके घर में 7-8 लुटेरों ने छत के रास्ते अंदर आकर दोनों पति-पत्नी पर लाठियों से हमला कर दिया। जिससे वे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्होंने बताया कि सभी लुटेरे आराम से घर में रखी अलमारियों, पेटियों और बेड से कपड़े निकाल कर घर की तलाशी लेते रहे। इस दौरान लुटेरों ने रसोई में चाय बनाकर पी और घर में रखी मिठाई भी खाई। लगभग दो घंटे घर मे रुकने के बाद लुटेरे मुख्य दरवाजे से घर से बाहर चले गए। जाते समय लुटेरों ने जोगा ¨सह को अपने चेहरे पर चादर लेकर लेट जाने का आदेश दिया। जोगा ¨सह ने बताया कि उन्होंने धार्मिक स्थल पर लंगर लगाने के लिए 60 हजार रुपये रखे थे। लुटेरे उक्त नकदी सहित उनकी बहू के 15 तोले सोने के गहने भी ले गए। लुटेरों के जाने के लगभग 15 मिनट बाद उसने अपने पड़ोसी जस¨वदर ¨सह को उठाकर अपने साथ हुई घटना की जानकारी दी। उन्होंने ही उन्हें ग्रामीणों की सहायता से सिविल अस्पताल गढ़शंकर लेकर दाखिल कराया। यहां पर उसकी पत्नी परमजीत कौर की गंभीर हालत को देखते हुए उसे नवांशहर के निजी अस्पताल में ले गए। जहां पर उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। उधर, घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और लुटेरों की तलाश शुरू कर दी है।

वहीं, दूसरी ओर मोहनोवाल से एक किलोमीटर दूर रावल¨पडी गांव में भी लुटेरों ने बलजीत ¨सह पुत्र तरसेम लाल निवासी रावल¨पडी को लाठियों के प्रहार से गंभीर रूप से घायल कर दिया। बलजीत सिंह को सिविल अस्पताल गढ़शकर लाया गया। यहां पर इमरजेंसी ड्यूटी पर तैनात डॉक्टरों ने बलजीत ¨सह की नाजुक हालत को देखते हुए उसे पीजीआइ चंडीगढ़ रेफर कर दिया है।

Posted By: Jagran