होशियारपुर, जेएनएन। भाजपा की ओर से पिछले सप्ताह निकाली गई दलित बचाओ इंसाफ यात्रा के दौरान नवांशहर में कुछ शरारती तत्वों ने बाबा साहिब आंबेडकर की प्रतिमा का अपमान किया लेकिन अभी तक आरोपितों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। दु:ख की बात है कि भारत रत्न एवं अनुसूचित समाज के भगवान बाब साहिब का जब शरारती तत्व अपमान कर रहे थे, तो पुलिस अधिकारी मूकदर्शक बनकर तमाशा देख रहे थे। यह आरोप पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री एवं पूर्व पंजाब प्रधान विजय सांपला ने बुधवार को अपने निवास स्थान पर प्रेसवार्ता के दौरान लगाए।

उन्होंने सरकार से सवाल किया कि अनुसूचित समाज को बाबा साहिब आंबेडकर की प्रतिमा पर हार चढ़ाने से किस की शह पर रोका गया। उन्होंने मांग की कि आरोपितों पर 295 (ए) और एससी एक्ट के अंतर्गत पर्चा दर्ज होना चाहिए। सांपला ने स्कालरशिप घोटाले की बात करते हुए कहा कि कांग्रेस ने तो इस योजना में सिर्फ घोटाला ही किया है। सरकार ने खुद ही अपने मंत्री को क्लीनचिट देकर आरोपित मंत्री को इस घोटाले से बाहर कर दिया है। कांग्रेस सरकार को अगर लगता है कि आरोपित मंत्री सही है तो सीबीआइ या हाई कोर्ट के जज से जांच करवाने में क्या मुश्किल है। पंजाब सरकार का यह दावा भी गलत है कि केंद्र सरकार ने स्कालरशिप योजना बंद कर दी है। पंजाब के मुख्यमंत्री पंजाब के अनुसूचित जाति समाज को गुमराह कर रहे हैं। कांग्रेस सरकार हमेशा अनुसूचित जाति के खिलाफ रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!